इराक : शिया बहुल इलाके में आतंकी हमला, 130 मरे

इराक की राजधानी बगदाद में इस साल के सबसे भीषण आतंकवादी हमलों में कम से कम 130 लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक घायल हो गए। रविवार को हुए इन दो अलग-अलग बम विस्फोटों में आतंकियों ने निशाना उन लोगों को बनाया जो ईद की खरीदारी के लिए शहर के व्यस्त क्षेत्रों में पहुंचे थे। पुलिस और चिकित्सा कर्मियों के मुताबिक, मध्य बगदाद के सर्वाधिक बड़े व्यापारिक केंद्र करादा में इस साल का सबसे भयावह आतंकी हमला हुआ। इसमें 125 वे लोग मारे गए, जो ईद की खरीदारी कर रहे थे। घटना में 100 लोग घायल हुए हैं।

दूसरा विस्फोट पूर्वी बगदाद में हुआ, जब आईईडी में विस्फोट हो गया। इस घटना में पांच लोगों की मौत हो गई और 16 लोग घायल हो गए। पहले खबर आई थी कि विस्फोटक सामग्री से भरी कार में विस्फोट हो गया था। इस वारदात की किसी संगठन ने अभी तक जिम्मेदारी नहीं ली है।

करादा एक शिया बहुल इलाका है। यहां हुए शक्तिशाली विस्फोट से कई दुकानों, स्टॉलों और कारों में आग लग गई। यहां ईद की खरीदारी करने वालों की भारी भीड़ थी। ये लोग रोजा खोलकर यहां खरीदारी करने पहुंचे थे।

आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ऑनलाइन बयान जारी कर इस वारदात की जिम्मेदारी ली है। उसने कहा है कि उसने जान बूझकर शिया समुदाय को निशाना बनाया है। लेकिन, इस बयान की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है।

इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने करादा का दौरा किया और हमले में शामिल आतंकवादियों को दंडित करने की कसम खाई। सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में नजर आ रहा है कि नाराज लोगों ने अबादी को ‘चोर’ कहते हुए उनके खिलाफ नारेबाजी की।

अबादी के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि हाल के दिनों में इराक के अनबर और फालुजा में आतंकियों को जिस बड़े पैमाने पर शिकस्त मिली है, यह हमला इसी की हताशा का नतीजा है।

फालुजा को आतंकियों के कब्जे से मुक्त कराने से पहले बगदाद में अबादी के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे थे। लोगों का कहना था कि बगदाद में सुरक्षा व्यवस्था बेहद खराब हालत में है।