हरिद्वार : गैर धर्म के लड़के से प्यार में युवती ने धर्मपरिवर्तन कर किया निकाह, परिजन पुलिस चौकी पहुंचे

धार्मिक नगरी हरिद्वार में युवती के गैर समुदाय के युवक से निकाह कर धर्म परिवर्तन कर लेने का मामला अब तूल पकड़ गया है। इसे लेकर हरिद्वार के ज्वालापुर में तनाव बना हुआ है। रविवार को गुस्साए ब्राह्मण समाज के लोगों के साथ ही बड़ी संख्या में व्यापारियों ने भी ज्वालापुर कोतवाली का घेराव कर जमकर हंगामा काटा।

लड़की को वापस दिलाने की मांग कर रहे लोगों की सीओ और कोतवाली प्रभारी से नोंकझोंक भी हुई। करीब एक घंटे तक चले हंगामे के बाद आखिरकार युवती के भाई की ओर से युवक एवं उसके पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लेने पर मामला शांत हुआ।

24 वर्षीय एक पढ़ी-लिखी युवती प्रेम प्रसंग के चलते गैर समुदाय से ताल्लुक रखने वाले युवक आफाक पुत्र दिलशाद निवासी मोहल्ला घोसियान के साथ चली गई थी। भाई की सूचना पर हरकत में आई पुलिस ने युगल को नैनीताल से ढूंढ निकाला था।

एक जून को ज्वालापुर कोतवाली में पुलिस की मौजूदगी में युवती ने युवक को अपना शौहर बताते हुए कहा था कि उसने धर्म परिवर्तन कर निकाह कर लिया है और अब अपना नाम तमन्ना रख लिया है।

हालांकि, नगर मजिस्ट्रेट जयभारत सिंह के आदेश पर युवती को नारी निकेतन देहरादून भेजा गया है और युवक को उसके परिजन के सुपुर्द किया गया है। गैर समुदाय के युवक से निकाह करने की बात सामने आने पर क्षेत्रवासी बेहद आक्रोशित हैं।

रविवार सुबह बड़ी संख्या में ज्वालापुर के ब्राह्मण समाज से जुड़े लोग रामलीला मैदान में इकट्ठा हुए और मामले को शहर की सांप्रदायिक एकता के लिए चुनौती बताते हुए प्रशासन से युवती को वापस दिलाने की मांग की। फिर वे सब इकट्ठा होकर जुलूस के रूप में सीधे कोतवाली ज्वालापुर पहुंचे।

सीओ सदर जेपी जुयाल और कोतवाली प्रभारी धीरेंद्र सिंह रावत से नोंकझोंक भी हुई। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे तत्काल गिरफ्तार किया जाए तथा युवती को वापस उसके परिजनों को सौंपा जाए।

करीब एक घंटे तक कोतवाली में हंगामा चलता रहा। आखिर में युवती के भाई ने युवक आफाक एवं उसके पिता पर बहन की अश्लील वीडियो बनाकर सार्वजनिक कर देने के लिए डराने धमकाने और दबाव डलवा कर निकाह कराने का आरोप लगाते हुए शिकायत दी। नगर पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि पिता-पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

युवती के परिजनों का आरोप है कि देहरादून में नारी निकेतन में वे अपनी बहन से मिलने गए थे, पर उनकी मुलाकात नहीं कराई गई। अब पुलिस युवती को बयान के लिए कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है। युवती के बयान पर ही तस्वीर साफ हो सकेगी।

पूरे मामले को लेकर रामलीला मैदान में पंचायत बुलाई गई है। पंचायत में भविष्य को लेकर भी कई अहम निर्णय लिए जा सकते हैं और मौजूद समय से निपटने के लिए भी रणनीति बनेगी।