ढाका : आतंकियों ने कुरान की आयतें पढ़ने को कहा, जो नहीं पढ़ पाया उसका गला रेत दिया

ढाका।… बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक कैफे के अंदर लोगों को बंधक बनाने वाले बंदूकधारियों ने उनके धर्म का पता लगाने के लिए उनसे कुरान की आयतें पढ़ने को कहा और ऐसा नहीं कर पाने वालों को प्रताड़ित किया। एक प्रत्यक्षदर्शी के परिवार ने यह बताया।

हसनत करीम की पत्नी शरमीन करीम और बेटी सफा (13) व रयान (8) गुलशन राजनयिक क्षेत्र के होली आर्टिसन बेकरी में उस वक्त सफा का जन्म दिन मना रहे थे जब बंदूकधारी कैफे में घुसे।

करीम ने बताया कि बंदूकधारियों ने बांग्लादेशी नागरिकों से क्रूर व्यवहार नहीं किया। इसके बजाय उन्होंने सभी बांग्लादेशियों को रात का भोजन दिया। ‘वे हर किसी से कुरान की आयतें पढ़ा कर उनकी धार्मिक पृष्ठभूमि की जांच कर रहे थे। जिन्होंने एक-दो आयतें सुना दीं, उन्हें बख्श दिया। अन्य को प्रताड़ित किया गया।

बता दें कि आतंकवादियों ने निर्मम तरीके से 20 बंधकों की हत्या कर दी। मारे गए लोगों का गला रेता गया है।