कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को उत्तराखंड सरकार से चमोली और पिथौरागढ़ में बादल फटने की घटना के आलोक में बचाव एवं पुनर्वास के लिए त्वरित सहायता प्रदान करने को कहा। इस घटना में जानमाल का भारी नुकसान हुआ है।

इस घटना से हुए नुकसान पर चिंता प्रकट करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि यह बड़ी दुख की बात है कि आकस्मिक बाढ़ से कई लोगों की जान चली गई और कई अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए।

उन्होंने कहा, ‘कई लोग लापता हैं जो गंभीर निराशा का विषय है। लापता लोगों के रिश्तेदारों को उम्मीद नहीं छोड़ी चाहिए और हम प्रभावित क्षेत्रों के लोगों के साथ चट्टान की तरह खड़े हैं।’

पिथौरागढ़ और चमोली जिलों में शुक्रवार तड़के भयंकर बारिश और भूस्खलन से कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई तथा कई गांव जमींदोज हो गए। करीब 17 निवासी मलबे में फंसे हैं।