केंद्र ने मूसलाधार बारिश और भूस्खलन से प्रभावित उत्तराखंड में शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के बचाव दल भेजे और पहाड़ी राज्य को हर जरूरी मदद उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री हरीश रावत से फोन पर बात की और पिथौरागढ़ व चमोली जिलों में बादल फटने और भारी बारिश के कारण पैदा हुई स्थिति का जायजा लिया। राजनाथ सिंह ने रावत को इस स्थिति से निपटने के लिए हर संभव मदद उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।

राजनाथ सिंह ने कहा, ‘उत्तराखंड में बादल फटने से प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ के दलों को भेजा गया है। एनडीआरएफ के अतिरिक्त दलों को अलर्ट पर भी रखा गया है।’ गृहमंत्री ने इस आपदा के कारण हुई मौतों पर गहरा दुख जाहिर किया और शोकाकुल परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की।

शुक्रवार तड़के उत्तराखंड के पिथौरागढ़ और चमोली जिलों में मूसलाधार बारिश और भूस्खलन होने के कारण कम से कम 12 लोग मारे गए और 25 अन्य लापता हो गए।