बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि मंत्रिमंडल द्वारा विधानसभा में दोबारा विनियोग बिल पेश करने के फैसले से बीजेपी का यह दावा सही साबित हो गया है कि 18 मार्च को विधानसभा में विनियोग बिल पास नहीं हुआ था। यानी राज्य की कांग्रेस सरकार उसी दिन गिर गई थी। इस स्थिति में कांग्रेस का सरकार में बने रहना गलत है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस तिकड़म से सत्ता में बनी हुई है।

भट्ट ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि सीएम हरीश रावत पिछले कई दिनों से जनता को धोखे में डालने के लिए ‘मेरा बजट कहां है’ का राग अलाप रहे थे, लेकिन सच्चाई यही थी कि बजट ‘उन्हीं की जेब में’ है। भट्ट ने कहा कि राज्य की जनता इस बात को समझती है और निकट भविष्य में होने वाले चुनाव में वह कांग्रेस को सभी से बाहर कर देगी।

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि बजट की पूरी प्रक्रिया संविधान के अनुसार चलती है और अब मुख्यमंत्री को उसी प्रक्रिया का पालन करना पड़ रहा है। लेकिन उनके इस प्रयास से सरकार की कलाई खुल गई है। गौरतलब है कि उत्तराखंड विधानसभा के 4-5 जुलाई को बुलाए गए विशेष सत्र के दौरान विनियोग विधेयक पेश किया जाएगा।

भट्ट ने कहा है कि यह केंद्र सरकार की जनता के प्रति जिम्मेदारी का नतीजा है कि सरकार ने अध्यादेश के माध्यम से राज्य के काम-काज को चलाने के लिए बजट पारित करवाया, नहीं तो राज्य के कर्मचारियों के लिए एक अप्रैल 2016 से वेतन देने के लिए धन न होता और सारे काम ठप्प पड़ जाते।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने मंगलवार को उपनल कर्मियों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की है। कहा कि रावत सरकार का यह व्यवहार बर्बरतापूर्ण है। राज्य सरकार को उपनल कर्मियों की मांगों पर विचार करना चाहिए।