उत्तराखंड कैबिनेट ने राज्य के खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए ओलंपिक में पदक जीतने वालों को सीधे अफसर बनाने का फैसला लिया है। अन्य स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं के विजेताओं के लिए भी सरकार ने आकर्षक योजना तैयार की है। कुशल खिलाड़ियों को ‘आउट ऑफ टर्न’ नौकरी, अधिमान देने के लिए चार श्रेणियां बनाई गई हैं।

मंगलवार को लिए गए निर्णय में पहली श्रेणी के तहत ओलंपिक पदक विजेताओं को विभागों के चिन्हित समूह-ख (ग्रेड पे-5400) पर सीधी भर्ती के पदों पर आउट ऑफ टर्न नियुक्ति दी जाएगी।

जबकि दूसरी श्रेणी के अंतर्गत ओलंपिक खेल में हिस्सा लेने, एशियन खेल, राष्ट्रमंडल खेल, मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय खेल संघों द्वारा प्रत्येक दो या चार सालों में आयोजित विश्व चैंपियनशिप या विश्वकप में पदक जीतने वालों को चिन्हित समूह-ख (ग्रेड पे 4600 और 4800) के सीधी भर्ती के पदों पर आउट ऑफ टर्न नियुक्ति दी जाएगी।

तीसरी श्रेणी के तहत सैफ खेल, राष्ट्रीय खेल के पदक विजेताओं, मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय खेल संघों द्वारा प्रत्येक दो या चार वर्षों में आयोजित विश्व चैंपियनशिप या विश्वकप में हिस्सा लेने वालों, एशियन चैंपियनशिप, राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप के पदक विजेताओं को उनकी खेल प्रतिस्पर्धा के स्तर, महत्ता के अनुसार विभागों के चिन्हित समूह-ग के सीधी भर्ती के पदों पर आउट ऑफ टर्न नियुक्ति दी जाएगी।

चौथी श्रेणी के तहत मान्यता प्राप्त खेल संघों द्वारा आयोजित सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप, अखिल भारतीय अंतरविश्वविद्यालयी प्रतियोगिताओं, मान्यता प्राप्त खेल संघों द्वारा आयोजित राष्ट्रीय जूनियर प्रतियोगिताओं, भारत सरकार की राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में मेडल हासिल करने वाले खिलाड़ियों को चिन्हित पदों के अतिरिक्त राज्याधीन सेवाओं में श्रेणी-ग के सीधी भर्ती के पदों के पर चयन प्रक्रिया में अधिकतम 10 प्रतिशत या 25 अंक का अधिमान दिया जाएगा। लेकिन यह अधिमान इंटरव्यू में नहीं मिलेगा। यह भी जरूरी है कि यह खेल अथवा चैंपियनशिप संबंधित खेल के अंतरराष्ट्रीय या राष्ट्रीय स्तर के फेडरेशन, संघ या निकाय से मान्यता प्राप्त होने चाहिए।