तुर्की : इस्तांबुल हवाईअड्डे पर विस्फोट में 36 की मौत, 60 घायल; IS पर शक

तुर्की में इस्तांबुल के अतातुर्क हवाईअड्डे पर मंगलवार रात बम हमले हुए, जिसमें 36 लोगों की मौत हो गई और अन्य 60 लोग घायल हो गए। तुर्की के प्रधानमंत्री बिनाली यिलदिरीम ने बुधवार को इसके लिए आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) को जिम्मेदार ठहराया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बिनाली ने हवाईअड्डे पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हमलों को तीन आत्मघाती हमलावरों ने अंजाम दिया। उन सभी ने स्वयं को उड़ा दिया।

अंग्रेजी चैनल ‘सीएनएन’ की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि लक्ष्य और तरीके को देखकर लगता है कि यह आईएस का किया धरा है।

‘बीबीसी’ की रिपोर्ट के मुताबिक, तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एरदोगन ने कहा है कि यह हमला आतंकवादी संगठनों के खिलाफ वैश्विक लड़ाई का निर्णायक मोड़ बनना चाहिए।

इससे पूर्व तुर्की के न्याय मंत्री बेकिर बोजदग ने अंकारा में कहा कि एक आतंकवादी ने हवाईअड्डे पर कलाशनिकोव (रूसी मशीनगन) से गोलियां बरसाईं और उसके बाद स्वयं को उड़ा दिया।

ट्विटर पर तुर्की के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया कि मृतकों में अधिकांश स्वदेशी नागरिक हैं। मृतकों एवं घायलों में विदेशी भी शामिल हैं। प्रधानमंत्री बिनाली यिलदिरीम ने एक संकट डेस्क बनाने का आदेश दे दिया है। तुर्किश रेड क्रेसन्ट (मानवीय संगठन) के प्रमुख केरेम किनिक ने रक्तदान की अपील की है।