नैनीताल, चमोली सहित कई जिलों में भारी बारिश के आसार, 30 जून से 72 घंटे का अलर्ट

मौसम विभाग ने 30 जून से 2 जुलाई तक कुमाऊं मंडल के नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर व पिथौरागढ़ और उससे लगते गढ़वाल अंचल के चमोली, उत्तरकाशी व रुद्रप्रयाग जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

मौसम विभाग की सलाह पर शासन ने इन जिलों में एनडीआरएफ व एसडीआरएफ को भी सतर्क कर दिया है। शासन ने मानसरोवर यात्रा मार्ग पर भी अलर्ट जारी करते हुए किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए आईटीबीपी की तैनाती करते हुए संवेदनशील स्थानों के आसपास हेलीकॉप्टर की भी तैनाती कर दी है।

मौसम विभाग का पूर्वानुमान यदि सही साबित हुआ तो सूबे में मानसून इस बार भी रिकॉर्ड तोड़ेगा। ऐसे में भू-स्खलन की घटनाओं में तो बढ़ोतरी होगी ही नदियां भी ऊफान पर रहेंगी।

अपर सचिव उत्तराखंड शासन, संतोष बडोनी का कहना है, ‘इस सब के मद्देनजर मौसम विभाग ने शासन को सावधानी बरतने को कहा है। चारधाम यात्रा मार्गों के साथ-साथ कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग पर भी शासन ने आपदा एवं प्रबंधन में लगे विभागों को अलर्ट कर दिया है। इस समय जहां चारधाम यात्रा मार्गों पर हजारों लोग मौजूद हैं, वंही कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग पर भी चार दल मौजूद हैं। इनमें से दो दल भारतीय सीमा पार करके नेपाल पहुंच चुके हैं और दो यात्री दल अभी भारतीय सीमा में ही हैं।’

उधर मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह मानते हैं कि मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर शासन ने कुमाऊं व गढ़वाल मंडल के सभी जिलों में आला अधिकारियों को अलर्ट करते हुए सभी से विशेष सतर्कता बरतने, ख़ासकर भूस्खलन संभावित क्षेत्रों व नदियों के किनारे बसे शहरों के वाशिंदों को सावधान रहने को कहा है।’