देहरादून : डीएवी छात्रों ने की तालाबंदी, सीट बढ़ाने और शिक्षकों के खाली पद भरने की मांग

सीट बढ़ोतरी की मांग पर सोमवार को डीएवी कॉलेज के गेट पर छात्र संगठनों ने तालाबंदी कर दी। छात्र नेताओं ने कॉलेज प्रबंधन पर जानबूझकर खाली पड़े शिक्षकों के पदों को न भरने का आरोप लगाया। छात्रों ने चेतावनी दी है कि जब तक कॉलेज में सीट बढ़ोतरी और शिक्षकों की भर्ती के मामले में कुछ नहीं किया जाएगा, तब तक वह दाखिले नहीं होने देंगे।

सोमवार को डीएवी कॉलेज में छात्र संघ महासचिव सचिन थपलियाल के नेतृत्व में छात्रों ने कॉलेज के गेट पर तालाबंदी कर दी। सचिन का कहना था कि कॉलेज प्रबंधन जानबूझकर शिक्षकों के खाली पद नहीं भर रहा है, जिससे पहले ही शिक्षकों की कमी बनी हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि गढ़वाल विवि हमेशा ही डीएवी कॉलेज के साथ सौतेला व्यवहार करता आया है।

इसलिए डीएवी को श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध किया जाए। मंगलवार को भी फॉर्म के काउंटर बंद करवाकर सभी वरिष्ठ छात्र नेताओं की बैठक बुलाई गई है। बैठक में तय किया जाएगा कि आगे आंदोलन कैसे चलेगा। इस मौके पर महेंद्र माही, भगवती प्रसाद, आशीष रावत, सूरज कोहली, सोनू बिष्ट, संदीप कुकरेती, सौरभ मंमगाई, आदित्य बिष्ट, शशांक सती, यशवंत, संजय चंद, अंकिता, सचिन आदि मौजूद रहे।

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया के नेताओं की बैठक डीएवी के अध्यक्ष विकास भट्ट की अध्यक्षता में सोमवार को हुई। बैठक में कॉलेज में खाली पड़े शिक्षकों के पद भरने की मांग की गई। इस मौके पर उपाध्यक्ष विपिन सिंह पंवार ने कहा कि लंबे समय से मांग उठती आ रही है कि कॉलेज में मूलभूत सुविधाएं, शिक्षकों के खाली पद भरे जाएं। कॉलेज प्रबंधन इसमें लगातार आनाकानी कर रहा है।

सहसचिव हिमांशु चौहान ने कहा कि सीट बढ़ोतरी की मांग, शिक्षकों की भर्ती, सस्ती व बेहतर शिक्षा के समान अवसर मिलने चाहिए। राज्य सचिव देवेंद्र सिंह रावल ने कहा कि डीएवी व दून घाटी में स्थिति सभी कॉलेजों के छात्रों को गढ़वाल विवि दूर होने की वजह से परेशानी होती है। लिहाजा, दून विवि से संबद्धता की जाए। बैठक में नितिन मलेठा, शैलेंद्र परमार, तोषी चौधरी, शिवानी, पूजा, राकेश आदि मौजूद रहे।