यह तो हम सब जानते हैं कि सार्वजनिक स्थानों पर ध्रूमपान करना कानूनी अपराध है। इसके बावजूद लोग ऐसा करने से बाज नहीं आते, लेकिन अगर आप नैनीताल जिले में हैं तो ऐसा करने से पहले दो बार जरूर सोच लें। क्योंकि डीएम दीपक रावत ने सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों के खिलाफ सख्ती ने संकेत दिए हैं।

डीएम ने कहा, ‘देखने में आ रहा है कि जानकारी होने के बावजूद लोग सार्वजनिक स्थानों पर ध्रूमपान करने से नहीं चूकते हैं। ध्रूमपान का शौक हमें घातक बीमारियों की ओर भी धकेलता है।’ उन्होनें कहा कि ध्रूमपान की इस दूषप्रवृत्ति को रोकने के लिए समूचे नैनीताल जिले में अभियान चलाया जा रहा है।

दीपक रावत ने नैनीताल जिले के सभी उप-जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह अपने क्षेत्र के सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों की धरपकड करें और नियमानुसार उनका चालान भी करें।

जिलाधिकारी के आदेशों के क्रम में नगर आयुक्त हरबीर सिंह ने नगर निगम टीम के साथ विशेष चैकिंग अभियान चलाकर 11 लोगों को सार्वजनिक स्थलों पर ध्रूमपान करते हुए पकड़ा। पकड़े गए लोगों पर 2100 रुपये का अर्थदंड भी लगाया गया।

सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह टीम के साथ
सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह टीम के साथ

हरबीर सिंह ने बताया कि उन्होंने तहसील, बस स्टैंड, मटर गली, पटेल चौक, सरस मार्किट, बेस अस्पताल में अभियान चलाकर 11 लोगों को ध्रूमपान करते हुए पकड़ा और 21 सौ रुपये की धनराशि वसूली। सार्वजनिक स्थानों पर ध्रूमपान करते हुए अमान, मदन सिंह, गिरीश चन्द्र, मोहनचन्द पांडे, कमल सिंह, सोमपाल, राहुल, उमेश अग्रवाल, खीमानन्द, रमेशराज तथा जितेंद्र को पकड़ा गया।

चैकिंग अभियान में निगम के सहायक नगर अधिकारी दलीप कपूर, पूजा चन्द्रा, बबीता सिंह, भरत सिंह आदि मौजूद थे।