भारतीय जनता पार्टी की राजनीति सिर्फ सत्ता पाने के लिए है : हरीश रावत

मुख्यमंत्री हरीश रावत (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राजनीति सिर्फ सत्ता पाने के लिए है। हरिद्वार में अमित शाह की रैली यहां का सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने के लिए रखी गई थी। जिसमें डेढ़ से दो लाख लोगों को लाने का दावा किया गया था। हरिद्वार की जनता इसलिए बधाई की पात्र है कि उसने सांप्रदायिकता को पोषित करने वाले मंसूबे फेल कर दिए हैं।

अपनी सरकार पर शाह की ओर से भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा जिन घोटालों को लेकर पिछले चार सालों में कांग्रेस को घेरती रही है, उसके सारे नायक इस समय भाजपा में है।

भाजपा अगर भ्रष्टाचार की जांच कराना चाहती है तो एक आंतरिक कमेटी का गठन करे और पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को उस कमेटी का अध्यक्ष बनाकर जांच करा ले। भाजपा को उसके सारे सवालों का जवाब मिल जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार राजनीतिक आधार पर नहीं बल्कि क्षेत्र की आवश्यकताओं व प्राथमिकताओं के आधार पर विकास को बढ़ावा दे रही है।

हरिद्वार या खटीमा से चुनाव लड़ने की चर्चा पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि वह कहां से चुनाव लड़ेंगे, यह अभी चर्चा का विषय नहीं है। अभी तो उस नुकसान की भरपाई करनी है, जो प्रदेश की सरकार को अस्थिर कर केंद्र सरकार ने पिछले चार महीने में उत्तराखंड को पहुंचाया है। उनसे पूछा गया था कि मुख्यमंत्री के कभी हरिद्वार जिले से तो कभी खटीमा से चुनाव लड़ने की चर्चाएं उड़ती रहती हैं। हरीश रावत ने कहा कि फिलहाल तो विकास उनकी प्राथमिकता है, लेकिन हरिद्वार में तो उनकी आत्मा बसती है। वह हरिद्वार को कभी नहीं छोड़ सकते।