बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की हरिद्वार में शनिवार 25 जून को होने वाली शंखनाद रैली और इसी दिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का लंढौरा में शांति मार्च और पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की गोली से स्वागत वाली धमकी को लेकर प्रशासन सतर्क हो गया है।

प्रशासन ने हरिद्वार नगर निगम सीमा छोड़कर पूरे जिले में धारा 144 लगा दी है। हालांकि प्रशासन के इस कदम के बाद पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने कुछ नरमी बरतने के संकेत दिए हैं। बता दें कि एक जून को दुकान खाली कराने के विवाद के बाद लंढौरा में बवाल हो गया था। कई दिन तक बाजार भी बंद रहे थे।

अब शनिवार 25 जून को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की हरिद्वार में रैली है। इसी दिन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय लंढौरा में शांति मार्च निकालने की घोषणा कर चुके हैं। दो दिन पहले पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने मार्च को अशांति मार्च बताते हुए कहा था कि उनके पांच हजार कार्यकर्ता किशोर के मार्च का टमाटर, पत्थर, अंडों व गोलियों से स्वागत करेंगे।

चेतावनी के बाद टकराव की आशंका पर प्रशासन ने हरिद्वार नगर निगम क्षेत्र को छोड़कर पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दी है। अपर जिलाधिकारी जीवन सिंह नाग्नयाल ने बताया कि इस दौरान कोई भी व्यक्ति शस्त्र लेकर चलेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी राजीव स्वरूप ने बताया कि पुलिस प्रशासन पूरी तरह सतर्क है, किसी को भी माहौल खराब करने नहीं दिया जाएगा।

पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन का कहना है, ‘चूंकि अब प्रशासन ने स्थिति को सामान्य बनाने के लिए खुद जिम्मेदारी ले ली है और धारा 144 लागू कर दी है। ऐसे में उग्र विरोध करने का कोई इरादा नहीं है। माहौल खराब न हो, इसके लिए वह और समर्थक खुद प्रशासन का सहयोग करेंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली को सफल बनाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा।’