अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति मामले में सरकार 10 दिनों में दे जवाब- हाईकोर्ट

हाईकोर्ट ने अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के मामले में सरकार से 10 दिन के भीतर जवाब मांगा है। शुक्रवार को न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की एकलपीठ ने मामले की सुनवाई की। एकलपीठ ने सरकार से पूछा कि क्यों नहीं शिक्षकों के रिक्त पदों पर अतिथि शिक्षकों की तैनाती को लेकर जारी शासनादेश को रद्द कर दिया जाए।

बता दें कि संगीता सांगा की ओर से हाईकोर्ट में इसको लेकर याचिका दायर की गई है। इसमें कहा गया है, कि शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए चयनित योग्य उम्मीदवार हैं। इनकी नियुक्ति करने के बजाय सरकार ने रिक्त पदों के सापेक्ष गेस्ट टीचर तैनात करने का शासनादेश जारी कर दिया है।

इससे औपचारिक रूप से शिक्षक पदों के लिए परीक्षा देकर उत्तीर्ण हुए अभ्यार्थियों को नियुक्ति से वंचित किया जा रहा है। याचिका में सरकार के इस आदेश को निररस्त करने की मांग की गई। इधर गेस्ट टीचर एसोसिएशन की ओर से भी मामले में अंतरिम प्रार्थना पत्र दिया गया है, इसमें उनका पक्ष भी सुनने की अपील की गई है। इधर एकलपीठ ने सरकार को 10 दिन के भीतर अपना जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद आगे की सुनवाई होगी।