उत्तराखंड में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का दो साल का कार्यकाल पूरा होने के मौके पर अस्थायी राजधानी देहरादून स्थित प्रदेश कार्यालय में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने उन्हें बधाई दी।

इस अवसर पर पार्टी पदाधिकारियों ने प्रदेश अध्यक्ष उपाध्याय के दो साल के कार्यकाल को बेहतरीन बताते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में पार्टी ने अनेक राजनीतिक उपलब्धियां हासिल की हैं। वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष की अगुवाई में राज्य में पार्टी की सकारात्मक छवि बनाते हुए, विधानसभा के चार सीटों पर हुए उपचुनाव सहित राज्यसभा सीट पर विजय हासिल की।

वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष की अगुवाई में दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर दो उपवास और धरना प्रदर्शन किए गए, जिसने केंद्र का ध्यान राज्य की ज्वलंत समस्याओं की ओर खींचा। चाहे काले धन का मामला हो या फिर किसानों की समस्याओं का समाधान। सब मुद्दों को प्रदेश अध्यक्ष ने उचित फोरम पर प्रमुखता से उठाया।

अपने दो साल के कार्यकाल में उन्होंने सभी धार्मिक पर्वों पर प्रदेश कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित कर सर्वधर्म समभाव का संदेश देने का भी कार्य किया। उनके कुशल नेतृत्व में पार्टी सदस्यता अभियान को भी नई गति मिली। उन्होंने पूरे राज्य में भ्रमण कर विधानसभावार बैठकों का आयोजन कर आमजनों को पार्टी से जोड़ने और कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद स्थापित करने की कोशिश की है।

सियासी संकट के दौरान प्रदेश अध्यक्ष उपाध्यक्ष की अगुवाई में ‘लोकतंत्र बचाओ – उत्तराखंड बचाओ’ पद यात्राओं तथा मशाल जुलूस यात्राओं का आयोजन कर राज्य में पुन: कांग्रेस की सत्ता वापसी का मार्ग प्रशस्त किया। प्रदेश अध्यक्ष के लंबे अनुभव का पार्टी संगठन को लाभ मिल रहा है।

उन्होंने अपने दो साल के कार्यकाल में राज्य के चहुंमुखी विकास और कार्यकर्ताओं के सम्मान के लिए हर वर्ग को पार्टी से जोड़ने का कार्य किया है। वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के नेतृत्व में पार्टी 2017 के विधानसभा चुनाव में अभूतपूर्व प्रदर्शन करेगी।