राज्य की हरीश रावत सरकार ने उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों में छात्र-छात्राओं को मुफ्त यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध कराई है। शैक्षिक दिवसों में शिक्षण संस्थान जाने के लिए छात्र-छात्राएं परिवहन निगम की बसों में मुफ्त सफर कर सकते हैं। उनके किराए की प्रतिपूर्ति परिवहन आयुक्त करेंगे। इस संबंध में शासन ने प्रतिपूर्ति के मद में 66 लाख, 66 हजार रुपये आवंटित कर दिए हैं।

राज्य के सभी विद्यालयों, विश्वविद्यालयों, चिकित्सा संस्थानों और तकनीकी शिक्षण संस्थानों के छात्र-छात्राओं को यह सुविधा उपलब्ध कराई गई है। बसों में छात्र-छात्राओं को सिर्फ परिचय पत्र दिखाना पड़ेगा।

इतना ही नहीं अगर छात्र शिक्षण संस्थान पहुंचने के लिए एक ही बस में सफर कर रहा है और उत्तर प्रदेश की सीमा के अंदर से बस गुजरती है तो भी किराया नहीं देना पड़ेगा।

राज्य शासन ने प्रावधान किया है कि परिवहन निगम को किराए की प्रतिपूर्ति की जाएगी। परिवहन आयुक्त प्रतिपूर्ति धनराशि देंगे। शासन ने छात्र-छात्राओं को परिवहन निगम में मुफ्त यात्रा का प्रावधान इसी साल से किया है।

इस संबंध में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने घोषणा की थी, इसी आधार पर शासन ने यह योजना बनाई है। प्रतिपूर्ति की पहली किस्त आवंटित की गई है।