हाल ही में कांग्रेस से बगावत करके बीजेपी में शामिल हुए नेता और हरिद्वार जिले में खानपुर के पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने लंढौरा मामले को लेकर मुख्यमंत्री हरीश रावत व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय पर निशाना साधा है।

चैंपियन ने कहा कि हरिद्वार में होने वाली बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दिन लंढौरा में शांति मार्च के बहाने अशांति मार्च निकालकर किशोर उपाध्याय राज्य में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, उनके समर्थक किशोर उपाध्याय और उनके साथ आने वाले लोगों का टमाटरों, पत्थरों और गोलियों से स्वागत करेंगे। लाहांकि बाद में उन्होंने अपने बयान को बदलते हुए कहा कि लंढौरा में टकराव किसी भी हद तक जा सकता है।

हरिद्वार में अमित शाह की रैली की तैयारियों को लेकर बैठक में शामिल होने के बाद पत्रकारों से बातचीत में पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने कहा कि लंढौरा का विवाद मुख्यमंत्री हरीश रावत के इशारे पर माहौल खराब कराने के लिए कराया गया था।

अब शांति मार्च के नाम पर दोबारा माहौल खराब किया जा रहा है। लेकिन कांग्रेसियों की कोशिशों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने चेतावनी दी कि उनके पांच हजार समर्थक रैली में न आकर लंढौरा में मुस्तैद रहेंगे।

ऐसा भी हो सकता है कि टकराव होने पर हालात एक जून को हुए उन्माद से भी ज्यादा बदतर हो जाएं। उन्होंने कहा कि उनकी लंढौरा रियासत सदैव धर्मनिरपेक्षता की पक्षधर रही है। आज भी उनका सभी धर्मों के अनुयायियों में भारी जनाधार है। वह सभी धर्मों का सम्मान करते हैं।