जागेश्वर, लोहाघाट, ऋषिकेश और तुंगनाथ जल्द होंगे आरोग्य नगर

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अंतररास्ट्रीय योग दिवस पर पेवेलियन ग्राउंड में योग शिक्षक, प्रशिक्षुओं के साथ 30 मिनट तक योग किया। इस दौरान उन्होंने उत्तराखंड के ऋषिकेश, जागेश्वर, लोहाघाट और तुंगनाथ को योग आरोग्य नगर की तर्ज पर योग आरोग्य केंद्र के रूप में विकसित करने का अस्वासन दिया।

सीएम हरीश रावत ने इस मौके पर कहा की स्वास्थ्य विभाग ने इस किस्म का प्रस्ताव उन्हें सौपा है। उस पर और सुधार कर काम किया जायेगा। उन्होंने राज्य में योग के मौजूदा माहौल पर ख़ुशी जताते हुए कहा कि इसके लिये राज्य में सक्रीय हर संस्थान का वह शुक्रिया अदा करते हैं। वर्तमान में योग और उत्तराखड एक दूसरे के पूरक हैं। सरकार भी अपने स्तर पर योग को बढ़ावा दे रही है। पुलिस देहरादून, हल्द्वानी में योग पार्क बनाकर नियमित योग कर रही है।

आयुष विभाग से भी उम्मीद है कि वह हॉस्पिटल में नियमित योग शुरू कराये जिस में परिचारक, मरीज व तीमारदार भाग लें। योग प्रशिक्षक मामले में सरकार की कमी स्वीकार करते हुए वह बोले कि सर्कार योग शिक्षक-प्रशिक्षकों को पार्ट टाइम और नियमित रूप से जोड़ने का प्रयास कर रही है।

ऋषिकेश के आसपास के इलाके के शिक्षण संस्थानों को भी योग से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने मोके पर कई योग प्रशिक्षकों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में मंत्री प्रीतम सिंह, सुरेन्द्र सिंह नेगी, एमएलए राजकुमार, सचिव उमाकांत पंवार, ओमप्रकाश, डीआईजी एम गणपति आदि मौजूद थे।