अन्तराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर परमार्थ निकेतन में कराये गये योगासन

ऋषिकेश| अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस-21 जून का प्रभाव सभी ओर दिख रहा है। आज की गंगा आरती भी उससे अछूति नहीं रही। अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर आज की गंगा आरती में पधारे गंगाप्रेमियों, श्रद्धालुओं, पर्यटकों को सामूहिक ध्यान कराया गया और प्राणायाम, सूर्यनमस्कार, वृक्षासन, पर्वतासन आदि सूक्ष्म आसन कराये गये। वरिष्ठ योग साधिका साध्वी आभा सरस्वती एवं डाॅ0 इन्दू शर्मा ने योग व ध्यान की यह क्रियायें सम्पन्न कराईं।

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर आज गंगा आरती में आये लोगों ने भी योेगिक क्रियाओं का प्रशिक्षण प्राप्त किया। उन्होंने ध्यान की विभिन्न विधाओं के बारे में साध्वी आभा सरस्वती से जाना। सभी के लिए उपयोगी सूक्ष्म योगासन भी गंगा आरती के प्रतिभागियों को बतलाये गये।

परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष श्री स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने देश-विदेश में योग के बढ़ते प्रभाव पर चर्चा की और योग विज्ञान के प्रचार-प्रसार को सभी के लिए बड़ा हितकर बताया। उन्होंने स्वस्थ भारत-स्वच्छ भारत तथा स्वस्थ विश्व-स्वच्छ विश्व की परिकल्पना को साकार करने के लिए सभी से काम करने का आह्वान किया।

गंगा आरती के प्रतिभागियों ने आरती तथा योग दोनों का लाभ प्रदान करने के लिए परमार्थ निकेतन परिवार की सराहना की। परमार्थ प्रवक्ता राम महेश मिश्र ने बताया कि मंगलवार को प्रातः5.30 बजे से परमार्थ निकेतन परिसर में योग की विशेष कक्षा का आयोजन किया गया है।