मुख्यमंत्री हरीश रावत शनिवार से दो दिवसीय अल्मोड़ा जिले के दौरे पर हैं। उन्होंने रानीखेत में पूर्व मंत्री स्व. पूरन सिंह मेहरा के वार्षिक श्राद्ध के कार्यक्रम में शिरकत किया। मुख्यमंत्री के रात्रि विश्राम का कार्यक्रम उनके पैतृक गांव मोहनरी में रखा गया था।

कुमांऊ के तमाम जिलाध्यक्षों की बैठक पीसीसी चीफ और मुख्यमंत्री ने ली। बैठक में आगामी चुनावों पर भी रणनीति बनाई गई और सरकार की योजना को लोगों तक ले जाने के कार्यक्रमों पर चर्चा की गई।

मीडिया से बात करते हुए हरीश रावत ने कहा कि पूर्व विधायक का निधन राज्य के लिए क्षति है। इसके साथ ही कहा कि मंत्रिमंडल के विस्तार में गढ़वाल के बारे में विचार किया जाएगा। पीसीसी चीफ ने अगर बात उठाई है तो उनकी बात पर ध्यान रखा जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, बजट की समस्या सबसे बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है। जिलों के गठन पर फिर से कोशिश करेंगें, राज्य बनने के 16 साल के बाद छोटी ईकाइयों की विवेचना जरूरी है।

हरीश रावत ने कहा कि अभी तो बीजेपी सिर्फ एक ही बार जीती है। आने वाले समय में जनता तय करेगी, 2019 आने दो यह तो आने वाला समय है। कांग्रेस कई बार जीती है। लोकतंत्र के अन्दर घमंड ठीक नही है।

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यक्षों के सुझाव के अनुसार सरकार आगे काम कर सकेगी। सरकार के आचरण पर भी संगठन की नजर रहेगी। पीसीसी चीफ किशोर उपाध्याय ने कहा कि जब सरकार संकट में थी उस समय संगठन ने सरकार की मदद की थी और आगे की रणनिति बनाई गई।