गिफ्ट देने के बहाने घर में घुसे हथियारबंद बदमाशों द्वारा पीडब्ल्यूडी इंजीनियर के घर में लूटपाट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बदमाशों ने इंजीनियर और उनकी पत्नी के हाथ-पैर और मुंह बांध दिया। उनके मोबाइल फोन छीन लिए और टेलीफोन की लाइन भी काट दी।

घटना नैनीताल जिले में हल्द्वानी शहर की है, जहां बदमाशों ने एक घंटे तक घर में लूटपाट की। बदमाश इंजीनियर की सोने की चेन, उनकी पत्नी के लाखों के जेवर और 26 हजार रुपये नगद भी लूट ले गए। जाते समय बदमाश पुलिस को सूचना देने पर उनके बच्चों को मारने की धमकी भी दे गए। बदमाशों की संख्या चार बताई जा रही है।

मूलरूप से ओखलकांडा ब्लॉक के भीड़ापानी निवासी मोहन चंद्र शर्मा पीडब्लूडी निर्माण खंड हल्द्वानी में एग्जक्यूटिव इंजीनियर हैं। वह पॉलीशीट के तुलसीनगर में पत्नी हेमलता के साथ रहते हैं। उनका बेटा अभितोष एयरफोर्स में फाइटर पायलट है। बड़ी बेटी मनिका बैंगलुरू में सॉफ्टवेयर इंजीनियर और छोटी बेटी तनिका एमबीबीएस इंटर्न कर रही हैं। इंजीनियर का परिवार सेकेंड फ्लोर पर रहता है, जबकि नीचे किरायेदार रहते हैं।

मोहन चंद्र शर्मा दो दिन से छुट्टी पर थे। शुक्रवार को वह पत्नी के साथ टीवी देख रहे थे। इसी बीच 12.20 बजे चार युवक उनके दरवाजे पर पहुंचे। इंजीनियर ने दरवाजा खोला तो युवकों ने बताया कि वे वुडहिल से गिफ्ट लेकर आए हैं। दरवाजा खोलते ही बदमाशों ने इंजीनियर को चाकू और रिवाल्वर के दम पर बंधक बना लिया।

पत्नी हेमलता देखने आई तो उसको भी बंधक बना लिया। बदमाशों ने दुपट्टे और चादर से दंपत्ति के हाथ-पैर और मुंह बांध दिया। इसके बाद बदमाशों ने इंजीनियर के गले से सोने की चेन, हेमलता के कुंडल, मंगलसूत्र, चेन और सोने की चूड़ियां लूट लीं। फिर अलमारी के ताले तोड़कर 26 हजार नकद, डायमंड सेट, सोने की चेन, दो मंगलसूत्र और अन्य कीमती सामान भी लूट लिया।

लूटपाट करने के बाद बदमाश निकल गए। बदमाशों के जाने के बाद इंजीनियर ने किसी तरह खुद को बंधन मुक्त किया फिर पत्नी के हाथ-पैर खोले। इसके बाद इंजीनियर शर्मा पड़ोसी के घर पहुंचे और मोबाइल मांगकर अपने जेठू विनोद जोशी को घटना की जानकारी दी।

सूचना मिलने के बाद एसपी सिटी यशवंत सिंह चौहान, सीओ राजेंद्र सिंह ह्यांकी और दो थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटना का जायजा लेने के बाद होटलों और ढाबों की चेकिंग की, लेकिन बदमाशों का पता नहीं चल सका।

बदमाश जिस गिफ्ट पैक को लेकर आए थे। उसमें एक ईंट का टुकड़ा और कागज रखे थे। उन्होंने इंजीनियर को चकमा देने के लिए यह काम किया था। इंजीनियर ने बताया कि चारों बदमाशों के पास असलहे और चाकू थे। वे गर्दन हिलाने पर गोली मारने की धमकी दे रहे थे।