उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को देखते हुए मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में बहुत जल्द फेरबदल की उम्मीद की जा रही है। केंद्रीय मंत्रिमंडल में यह फेरबदल 22 जून को संभावित है। उत्तराखंड से भी बीजेपी के दो सांसदों को भी मोदी सरकार में मंत्री बनाए जाने की चर्चाएं जोरों परहैं।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वदेश लौटने और पीएम मोदी के 23 जून से शुरू हो रहे विदेश दौरे के पहले ही केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की उम्मीद जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि 22 जून को पीएम मोदी अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकते हैं। इसमें उत्तराखंड को भी जगह मिलने की चर्चा है।

गौरतलब है कि उत्तराखंड की सभी पांच लोकसभा सीटें बीजेपी के पास हैं। मोदी सरकार में उत्तराखंड की उपेक्षा के भी आरोप लगते रहे हैं। अब जब विधानसभा चुनाव सिर पर हैं तो उत्तराखंड को भी तरजीह मिलने की उम्मीद लगाई जा रही है।

नैनीताल से सांसद भगतसिंह कोश्यारी और अल्मोड़ा के सांसद अजय टम्टा को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिलने की चर्चाएं हैं। गौरतलब है कि पिछली बार अजय टम्टा को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल करने की चर्चाएं थी, लेकिन ऐन वक्त पर उनका नाम पीछे कर दिया गया था।

ऐसे में जब सूबे के मुख्यमंत्री हरीश रावत आक्रामक रूप से चुनाव की तरफ बढ़ रहे हैं तो बीजेपी कुमाऊं में उन्हें घेरने की रणनीति के तहत कुमाऊं को प्रतिनिधित्व जरूर देगी। अजय टम्टा को मंत्री बनाकर बीजेपी कम से कम यह तो कह ही सकती है कि उन्होंने राज्य के दलितों को भी उचित प्रतिनिधित्व दिया है।

भगतसिंह कोश्यारी आरएसएस की पृष्ठभमि से ताल्लुक रखते हैं तो उन्हें भी मोदी सरकार में जगह मिलने की चर्चाएं हैं।