चैम्पियंस ट्रॉफी हॉकी : दक्षिण कोरिया को 2-1 से हराकर दूसरे नंबर पर पहुंचा भारत

थिमैया चदंदा के अंतिम समय पर किए गए गोल की बदौलत भारतीय हॉकी टीम ने मंगलवार को ली वेली हॉकी सेन्टर पर खेले गए मुकाबले में दक्षिण कोरिया को 2-1 से हरा दिया। थिमैया के अलावा कप्तान एस. वी सुनिल ने भी भारत के लिए गोल किया। वहीं, दक्षिण कोरिया के लिए एकमात्र गोल किम जुहुन ने किया।

भारत के लिए पहला गोल सुनील ने 39वें मिनट में किया। 57वें मिनट में किम ने दक्षिण कोरिया के लिए गोल कर स्कोर बराबर कर दिया, लेकिन कुछ ही सेकेंड बाद थिमैया ने भारत के लिए विजयी गोल दागा।

इस जीत के साथ ही भारतीय टीम अंकतालिका में दूसरे स्थान पर आ गई है। उसके चार मैचों में सात अंक हैं। वहीं, दक्षिण कोरिया की टीम पांचवें स्थान पर बनी हुई है। भारत को पहले दो क्वार्टरों में गोल करने के कई मौके मिले, लेकिन दक्षिण कोरिया ने उसे कामयाब नहीं होने दिया।

पहले क्वार्टर में मनदीप सिंह ने विपक्षी टीम के दो डिफेंडरों को छकाते हुए गोल करने की कोशिश की, लेकिन यांग जुहुन ने उन्हें गोल नहीं करने दिया। इसके बाद 29वें मिनट में दक्षिण कोरिया के पास भी गोल करने का मौका था, लेकिन कांग मुंकु के शॉट को भारतीय गोलकीपर पी.आर. श्रीजेश ने रोक दिया।

तीसरे क्वार्टर में भारत को कई मौके मिले और इस बार सुनिल ने गोल करने में कोई गलती नहीं की। अक्षदीप सिंह ने गेंद को अपने कब्जे में लिया और आगे बढ़ते हुए विपक्षी टीम के घेरे में सुनील को गेंद पास की, सुनिल ने गोलकीपर होंग को छकाते हुए खाली गोलपोस्ट में गेंद को डाल भारत को एक गोल से आगे कर दिया।

भारत को तीसरे क्वार्टर के अंत में अपनी बढ़त को दोगुनी करने का मौका मिला। भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन भारतीय टीम इसे गोल में बदलने में नाकामयाब रही।

जब लग रहा था कि भारत 1-0 से आगे रहते हुए मैच अपने नाम कर लेगा, तभी किम ने 57वें मिनट में मैदानी गोल कर दक्षिण कोरिया को 1-1 से बराबरी पर ला खड़ा किया। लेकिन कुछ ही सेकेंड में थिमैया ने भारत के लिए विजयी गोल कर दक्षिण कोरिया को जश्न मनाने का मौका नहीं दिया। तलविंदर सिंह ने थिमैया को पास दिया, जिसे थिमैया ने आसानी से गोलपोस्ट में डालकर भारत को जीत दिलाई।