लंदन।… भारतीय हॉकी टीम को सोमवार को चैम्पियंस ट्रॉफी-2016 में पहली हार मिली। उसे बेल्जियम ने 2-1 से हराया। बेल्जियम की यह तीन मैचों में पहली जीत है। भारत ने अपने पहले मैच में जर्मनी को 3-3 की बराबरी पर रोका था और फिर दूसरे मैच में ब्रिटेन को 2-1 से हराया था लेकिन वह युवा बेल्जियम की चुनौती की सामना नहीं कर सका।

भारत के लिए एकमात्र गोल देवेदेंर वाल्मिकी ने 30वें मिनट में किया। बेल्जियम ने एलेक्जेंडर हेंडरिक द्वारा 25वें मिनट में किए गए गोल की मदद से बढ़त बनाई थी लेकिन भारत ने उसे उतार दिया।

इसके बाद बेल्जियम ने 44वें मिनट में एक बेहतरीन फील्ड गोल के माध्यम से बढ़त हासिल की, जो अंत तक बरकरार रही। मैच का निर्णायक गोल जेरोम टुइंस ने किया। अब भारत को अपने चौथे मैच में दक्षिण कोरिया से भिड़ना है और खिताब की दौड़ में बने रहने के लिए उसे हर हाल में यह मैच जीतना होगा।

इससे पहले, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने अपने-अपने हिस्से के मैच जीत लिए। ब्रिटेन ने दक्षिण कोरिया को हराया जबकि ऑस्ट्रेलिया ने जर्मनी को मात दी।

भारत के हाथों 1-2 से हारने के बाद ब्रिटेन ने शानदार वापसी करते हुए कोरिया को 4-1 से हराया जबकि ऑस्ट्रेलिया ने जर्मनी को 4-3 से हराकर अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज की।

ब्रिटेन के लिए एश्ले जैक्सन ने 12वें, डेविड कानडान ने 18वें तथा 46वें और डेविड ब्रागडॉन ने 33वें मिनट में गोल किया। कोरिया की ओरसे एकमात्र गोल सुंगजू यू ने किया।

ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी का मैच उम्मीद के मुताबिक हाइस्कोरिंग साबित हुआ। ऑस्ट्रेलिया की ओर से ग्लेन टर्नर ने 17वें, ट्रिस्टन व्हाइट ने 22वें, ब्लैक गोवर्स ने 40वें और एरान जालेवस्की ने 53वें मिनट में गोल किए।

जर्मन टीम ने एक समय 2-0 की बढ़त बना ली थी। उसके लिए फ्लोरियन फुच ने 12वें, टोबाएस हाउके ने 14वें मिनट में गोल किए थे। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने 2-2 की बराबरी कर ली लेकिन फुच ने 30वें मिनट में एक और गोल करते हुए अपनी टीम को 3-2 से आगे कर दिया था। इसके बाद हालांकि आस्ट्रेलिया ने लगातार दो गोल के साथ मैच अपने नाम कर लिया।

तीन मैचों में यह जर्मनी की पहली हार है। उसे भारत तथा बेल्जियम ने बराबरी पर रोका था। दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया की यह तीन मैचों में दूसरी जीत है। इसी तरह ब्रिटेन की तीन मैचों में यह पहली जीत है, जबकि कोरिया को तीन मैचो में दूसरी हार मिली है।