डीएम दीपक रावत के बर्ताव पर महिला पर्यटक ने लगाया आरोप, बोली फिर कभी नैनीताल नहीं आना

नैनीताल के डीएम दीपक रावत पूरे जिले में खासे मशहूर हैं। उनका काम करने का अपना ही अलग अंदाज है, लेकिन सोमवार को नैनीताल घूमने आए एक पर्यटक जोड़ा डीएम के व्यवहार से बेहद आहत हो गया। आहत जोड़ा मीडिया के सामने कहने लगा कि अब कभी नैनीताल नहीं आना। हैरानी की बात तो तब हुई, जब महिला पर्यटक पुलिस के सामने फफक-फफक कर रो पड़ी।

सोमवार को गाजियाबाद से नैनीताल घूमने आए एक पर्यटक दम्पत्ति को यहां की बदइंतजामी के से दो-चार होना पड़ा। वैसे तो पहले से ही शहर में पार्किंग का पर्याप्त इंतजाम नहीं है, लेकिन इस दम्पत्ति ने पार्किंग के पास मुआयना कर रहे डीएम दीपक रावत से सवाल क्या पूछा शामत ही आ गई।

गाड़ी चला रहे निखिल जैन ने डीएम से पूछा कि ‘पार्किंग में जगह खाली है तो फिर गाड़ी खड़ी क्यों नहीं करने दी जा रही है। तीन-चार चक्कर काट चुका हूं पूरे नैनीताल में आखिर कहां मिलेगी जगह?’ इतना सुनते ही डीएम का पारा चढ़ गया और जवाब आया तुम मुझे बताओगे।

बस फिर क्या था, डीएम साहब ने पल भर में ही मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों को कार सीज करने का हुक्म सुना दिया। पुलिस भी हरकत में आ गई और मल्लीताल कोतवाली ले जाकर निखिल की गाड़ी का चालान कर दिया। इस व्यवहार से आहत निखिल की पत्नी थाने में ही फफक-फफक कर रो पड़ीं और कहने लगीं कि फिर कभी नैनीताल नहीं आना। यहां तो बड़ा रूखा बर्ताव होता है।

हालांकि कोतवाली में मीडिया के कैमरे चलने के बाद पुलिस के हाथ-पांव फूल गए। मामले की जानकारी बड़े अफसरों को दी गई, जिसके बाद पर्यटक दम्पत्ति की कार को चालान करने के बाद छोड़ दिया गया।

सीओ सिटी राकेश देवली ने कहा कि दुर्व्यवहार की कोई शिकायत नहीं है। पर्यटकों की गाड़ी का चालान गलत पार्किंग के चलते किया गया है। यहां आने वाले पर्यटकों के साथ अच्छा व्यवहार करने की हर सम्भव कोशिश रहती है।

(साभार – न्यूज़18)