पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय (फाइल फोटो)

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने बीजेपी की नीयत पर शक जताते हुए कहा है कि वह फिर उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगा सकती है। उन्होंने एक बार फिर मुख्यमंत्री हरीश रावत को निशाने पर लिया है। इस बार उन्होंने मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर हरीश रावत को खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने रविवार को पत्रकारों से कहा कि लगातार मुंह की खाने के बावजूद बीजेपी के रवैए में सुधार नहीं आया है।

राज्यसभा चुनाव में बुरी तरह हारने पर भी उसकी नीयत साफ नहीं लग रही है। वह एक बार फिर उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने की फिराक में है। इस बार वह राज्य के मौजूदा वित्तीय संकट को आधार बना सकती है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हरिद्वार आगमन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उपाध्याय ने कहा कि वह शायद अपने पापों को धोने के लिए हरिद्वार आ रहे होंगे। उनके आने से जनता पर कोई असर नहीं होने वाला।

उन्होंने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल में खाली पड़े दो पद अभी तक नहीं भरे जा सके हैं। कब तक भरे जाएंगे, इसकी कोई जानकारी तक नहीं, जबकि सभी विधायकों को इसका इंतजार है। अब तो चुनाव में भी कुछ महीने ही बचे हैं।

जल्द ही दोनों पद भरे जाने चाहिए, क्योंकि अपने विभागों की कार्यप्रणाली को समझने में भी नए मंत्रियों को कुछ वक्त लगता है। सवालिया लहजे में कहा कि अब नहीं तो क्या चुनाव के बाद यह दोनों पद भरे जाएंगे।

बीजेपी विधायक दान सिंह भंडारी, बीजेपी समर्थित राज्यसभा की निर्दलीय प्रत्याशी गीता ठाकुर के कांग्रेसी खेमे में आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में उनको या कांग्रेस संगठन को कोई जानकारी नहीं है।