गुरुवार देर रात एक किशोरी संदिग्ध हालात में ऋषिकेश स्थित बैराज पुल से गंगा नदी में कूद गई। नदी में पानी कम होने के कारण वह बीच टापू में फंस गई। किशोरी ने पूरी रात टापू पर ही गुजारी।

शुक्रवार तड़के मार्निंग वॉक पर आए लोगों की सूचना पर पुलिस ने राहत व बचाव कार्य चलाकर उसे टापू से बाहर निकाला। पुलिस के मुताबिक किसी बात पर प्रेमी से फोन पर झगड़ा होने से उसने आत्मघाती कदम उठाया। पुलिस ने परिजनों को सूचित कर दिया।

शुक्रवार तड़के बैराज पुल पर मार्निंग वॉक के लिए निकले कुछ लोगों को नदी में बने टापू पर एक किशोरी नजर आई, जो मदद के लिए शोर मचाने लगी। पानी के बीच टापू में किशोरी को देख मार्निंग वॉक के लिए आए लोग दंग रह गए और तत्काल बैराज के जल विद्युत निगम कार्यालय को सूचित किया।

सूचना पर कोतवाली प्रभारी नत्थीलाल उनियाल जल पुलिस के जवानों के साथ मौके पर पहुंचे। टापू में फंसी किशोरी को बचाने के लिए राहत बचाव कार्य में जुट गए। जल पुलिस आपदा उपकरण के साथ नदी में उतरी और करीब घंटे की मशक्कत के बाद टापू में फंसी किशोरी को बचाकर ले आए।

पुलिस ने बताया कि झारखंड मूल की किशोरी गुर्जर बस्ती, गुमानीवाला में परिजनों के साथ रहती है। चर्चा है कि बीते रात बापूग्राम मौसी के यहां से घर लौट रही थी, इसी बीच मोबाइल पर उसका प्रेमी के साथ झगड़ा हो गया। इससे परेशान होकर उसने गंगा में छलांग लगा दी।