शहरी क्षेत्रों के बाद अब देश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में भी सेट टॉप बॉक्स लगाए जाएंगे। इसके लिए 31 दिसंबर 2016 की कटऑफ डेट रखी गई है। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की केंद्रीय सचिव आर जया ने यह बात अस्थायी राजधानी देहरादून में केबल टीवी डिजिटलाइजेशन पर आयोजित कार्यशाला में कही।

मंगलवार को राजपुर रोड स्थित एक होटल में हुई कार्यशाला में उन्होंने कहा कि केबल टीवी डिजिटलाइजेशन का काम चार फेज में किया जा रहा है। पहले फेज में देश के चार प्रमुख शहरों को लिया गया। दूसरे फेज में 38 शहर और तीसरे में समस्त शहरी क्षेत्र शामिल किए गए। शहरी क्षेत्रों में अब तब 94 फीसदी ही डिजिटलाइजेशन हो पाया है।

उन्होंने कहा कि इससे संबंधित 40 मामले कोर्ट में लंबित होने से इसमें अब तक शत प्रतिशत सफलता नहीं मिल पाई है। केंद्रीय संयुक्त सचिव ने कहा कि चौथे फेज में ग्रामीण क्षेत्रों को लिया गया है।

अपर आयुक्त कर हंसा दत्त पांडे ने कहा कि ब्रॉडबैंड कनेक्शन के माध्यम से दूरस्थ क्षेत्रों तक केबल टीवी डिजिटलाइजेशन का काम पूरा होगा। इसके माध्यम से 880 चैनल देखे जा सकते हैं। कार्यशाला में कर आयुक्त दिलीप जावलकर, एडीएम झरना कमठान, उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश के नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

केंद्रीय संयुक्त सचिव ने कहा कि प्रोग्राम कोड एवं एडवरटाइजमेंट कोड के उल्लंघन पर ही किसी चैनल के प्रसारण पर रोक लगाई जा सकती है। किसी और दबाव में चैनल का प्रसारण नहीं रोका जा सकता।