कुमाऊं विश्वविद्यालय में जुलाई से स्नातक कक्षाओं में सेमेस्टर सिस्टम लागू

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के नियमों के पालन में कुमाऊं विवि ने बीए, बीएससी और बीकॉम में यह व्यवस्था लागू करने को मंजूरी दे दी है। अब कुमाऊं विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में जुलाई से स्नातक कक्षाओं में सेमेस्टर सिस्टम लागू हो जाएगा।

प्रथम वर्ष में दाखिला लेने वाले छात्र सेमेस्टर सिस्टम के तहत परीक्षा देंगे, द्वितीय और तृतीय वर्ष के छात्रों की परीक्षाएं पुरानी व्यवस्था के तहत ही होगी। मंगलवार को कुलपति प्रो. होशियार सिंह धामी की अध्यक्षता में हुई विवि की प्रवेश समिति की बैठक में नयी प्रवेश प्रक्रिया के लिए कैलेंडर भी जारी कर दिया गया। बता दें कि पीजी कक्षाओं में पहले से ही सेमेस्टर सिस्टम लागू है।

स्नातक स्तर में तीन साल में छह सेमेस्टर होंगे। छात्रों को पूरा कोर्स अधिकतम दस सेमेस्टर तक पूरा करना होगा। कुमाऊं विवि के अल्मोड़ा और नैनीताल परिसर में प्रवेश की प्रक्रिया 20 जून से शुरू होगी। पांच जुलाई तक फार्म जमा होंगे। जबकि महाविद्यालयों में 30 जून से 16 जुलाई तक फार्म जमा होंगे।

जानिए कब होंगे प्रवेश और परीक्षायें 

  • कुमाऊं विवि की स्नातक कक्षाओं के पहले सेमेस्टर की परीक्षा के फार्म 31 अक्तूबर से भरे जायेंगे।
  • परीक्षाएं 21 नवंबर से 15 दिसंबर तक होगी। इसी कार्यक्रम के अनुसार पीजी के पहले और तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं होंगी
  • दूसरे सेमेस्टर के फार्म 29 अप्रैल 2017 से भरे जायेंगे।
  • परीक्षाएं 20 मई 2017 से 15 जून 2017 तक होंगी।

यही तारीखें पीजी के दूसरे और चौथे सेमेस्टर के लिए लागू होंगी। पुराने सिस्टम के छात्रों की वार्षिक परीक्षा के लिए फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2016 रखी गई है। परीक्षाओं के लिए 6 अप्रैल से 6 जून 2017 का समय रखा गया है।

कुमाऊं विवि के कुलपति प्रो. एचएस धामी ने बताया कि पीजी कक्षाओं में हम पहले से सेमेस्टर सिस्टम लागू कर चुके हैं। अब इसे आगे बढ़ाते हुए स्नातक कक्षाओं में भी यह व्यवस्था लागू की जा रही है। जुलाई से बीए, बीएससी, बीकॉम में सेमेस्टर सिस्टम से ही प्रवेश दिए जाएंगे।