फेसबुक के प्रचलन में आने से पहले कई यूजर ओरकुट और मायस्पेस का इस्तेमाल करते थे। ओरकुट तो खैर बंद हो गया, लेकिन आज भी मायस्पेस पर अमेरिका की जनसंख्या से ज्यादा यूजर अकाउंट की जानकारी उपलब्ध है।

इंटरनेट पर इनमें से कुछ अकाउंट की निजी जानकारी अब लीक हो गई है। कह सकते हैं कि अगर आपने अपने स्कूल के दिनों में किसी अकाउंट को बनाकर छोड़ दिया था तो संभव है कि वह आज किसी मार्केटिंग कंपनी या अपराधियों के लिए काम का हो।

मायस्पेस की मालिक कंपनी टाइम इंक. ने सोमवार को उन रिपोर्ट की पुष्टि की जिनमें कहा गया था कि मायस्पेस के 360 मिलियन से ज्यादा अकाउंट को शुक्रवार को बेच दिया गया। इस लीक में पासवर्ड, ईमेल एड्रेस और यूजरनेम शामिल थे, जिन्हें जून 2013 में मायस्पेस से हैक किया गया था। इसके बाद मायस्पेस ने कड़ी सुरक्षा के लिए अपनी वेबसाइट को फिर से डिजाइन किया था।

my-space

एक ब्लॉगपोस्ट में मायस्पेस ने बताया कि कंपनी ने हैक किए गए पासवर्ड को डिसेबल कर दिया है ताकि लीक हुई जानकारी से अकाउंट को एक्सेस करके कोई भी किसी तरह का गलत फायदा नहीं उठा सके।

अभी तक यह साफ नहीं है कि मायस्पेस से हैक हुए कितने अकाउंट अब भी एक्टिव हैं। या फिर उन अकाउंट को हैक किया गया है जो आज भी मायस्पेस को इस्तेमाल करने के लिए लॉगइन करते हैं। लेकिन इस बात की उम्मीद ज्यादा है कि हैक किए गए अधिकतर अकाउंट का इस्तेमाल कई सालों से एक बार भी नहीं किया गया हो।

शायद यही वजह है कि एक्सपर्ट हमेशा कहते हैं कि कभी भी यूजर को एक यूजरनेम और पासवर्ड का इस्तेमाल अलग-अलग ऑनलाइन सर्विस के लिए नहीं करना चाहिए। इससे हैकर के लिए पासवर्ड और यूजरनेम को एक जगह से चोरी कर उन्हें अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर इस्तेमाल करना आसान होता है। इस तरह से यूजर की डिजिटल लाइफ का पूरा पोर्टफोलियो प्रभावित होता है।

इसीलिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि अगर आप अपने किसी अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो उन्हें डिलीट कर दें या फिर ऐसी सर्विस के लिए एक ईमेल एड्रेस बना लें, जिससे आपको उस अकाउंट से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी मिलती रहे।

इससे ना केवल आपको कम यूजरनेम और पासवर्ड याद रखने पड़ेंगे बल्कि हैकिंग की स्थिति में आपको बहुत ज्यादा नुकसान भी नहीं होगा। अपने पुराने अकाउंट की जानकारी को बदलकर आप इंटरनेट पर उपलब्ध अपनी दूसरी जानकारी को भी सुरक्षित कर सकते हैं।

मायस्पेस से चोरी की गई निजी जानकारी को कई हजार डॉलर में बेचा जाना था, इससे पता चलता है कि पुरानी जानकारी भी कितनी ज्यादा महत्वपूर्ण और काम की हो सकती है।