आज मौद्रिक नीति घोषित करेगा रिजर्व बैंक, आपकी EMI पर असर पड़ने की उम्मीद कम

महंगाई बढ़ने के संकेतों और वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल के बढ़ते दामों के बीच भारतीय रिजर्व बैंक मंगलवार को द्वैमासिक मौद्रिक नीति की समीक्षा में नीतिगत दरों पर यथास्थिति बनाए रख सकता है। यानी आपकी ईएमआई पर कोई असर पड़ने की उम्मीद नहीं है।

कुछ विशेषज्ञों के अनुसार रिजर्व बैंक ब्याज दर में कटौती की दिशा में कोई अगला कदम बढ़ाने से पहले मानसून की प्रगति की भी थाह लेना चाहेगा। मानसूनी बारिश की शुरुआत में इस साल देर हो रही है, लेकिन मौसम विभाग और निजी एजेंसियों ने बारिश सामान्य या उससे ऊपर रहने का अनुमान लगाया है।

रिजर्व बैंक के गर्वनर रघुराम राजन ने पिछले साल जनवरी से लेकर अब तक नीतिगत ब्याज दरों में कुल मिला कर 1.5 प्रतिशत की ही कटौती की है। पर उनकी आलोचना इसी बात को लेकर हो रही है कि उन्होंने दरों में कमी शुरू करने से पहले जरूरत से ज्यादा समय तक मौद्रिक नीति को सख्त रखा।

राजन नीतिगत दरों में कटौती करने के साथ-साथ बैंकों को उसका पूरा फायदा ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए भी जोर देते आ रहे हैं।

इस बार द्वैमासिक समीक्षा के बाद होने वाले गवर्नर के परंपरागत संवाददाता सम्मेलन को भी गौर से देखा जाएगा। क्योंकि उसमें राजन के सेवा काल के विस्तार के बारे में संकेतों को भी खोजा जाएगा। उनका कार्यकाल सितंबर में पूरा हो रहा है।