हल्द्वानी और रुद्रपुर के बीच टांडा जंगल में मंगलवार को आए दस मिनट के चक्रवात ने भारी तबाही मचा दी। यहां सैकड़ों पेड़ धराशायी हो गए, जिसके कारण हल्द्वानी-रुद्रपुर नेशनल हाईवे पर सैकड़ों वाहन जाम में फंसे रहे।

तस्वीरों में देखें  हादसे की भयावहता

दो गाड़ियों पर पेड़ गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। अधंड़ की सूचना मिलते ही मौके पर दोनों ही जिलों के प्रशासनिक अधिकारी, पुलिस बल और जेसीबी मशीनें पहुंची, जिन्होनें कई घंटो की मशक्कत के बाद रास्ते से पेडों को हटाया।

चक्रवात की चपेट में एक इनोवा गाड़ी आने से एक बच्चे सहित तीन लोगों को मौके पर ही मौत हो गई। मात्र दस मिनट में इस आंधी तूफान की वजह से सैकड़ों पेड़ हाइवे पर गिर गए और देखते-ही-देखते कई किलोमीटर लम्बा जाम लग गया।

अंधड़ की सूचना मिलते ही हल्द्वानी और रुद्रपुर के सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम, सीओ और कोतवाल जेसीबी मशीन लेकर मौके पर पहुंचे। हल्द्वानी सिटी मजिस्ट्रेट हरवीर सिंह ने बताया कि दोनों जिलों की टीम अपने-अपने स्तर से पेड़ काटने और उन्हे हटाने में जुटी हुई है।

पुलिस और प्रशासन के इस आपरेशन में स्थानीय लोगों ने सेल्फी लेने के साथ साथ सहयोग भी किया। उमस भरी गर्मी में जाम में फंसे सैलानियों को काफी देर तक रास्ता खुलने का इंतजार करना पड़ा।

यात्रियों ने बताया है कि तीन घंटे से जाम लगा हुआ है और आंधी तूफान की वजह से पेड़ ही पेड़ सडक पर गिरे हुए हैं। जाम खुलने का इंतजार कर रहे हैं। यात्रियों ने पेड़ हटाने के लिए बरती जा रही तत्परता पर भी संतोष जताया।