विधायकों की खरीद-फरोख्त के कथित स्टिंग ऑपरेशन मामले में सीबीआई जांच के दायरे में आए मुख्यमंत्री हरीश रावत से मंगलवार को जांच एजेंसी दोबारा पूछताछ करेगी। हरीश रावत सोमवार को ही पूछताछ में शामिल होने के लिए नई दिल्ली रवाना हो गए।

इससे पहले सीबीआई मुख्यमंत्री हरीश रावत से एक बार पूछताछ कर चुकी है। हालांकि इस मामले में हाईकोर्ट के मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी पर रोक के फैसले से हरीश रावत को राहत जरूर मिल चुकी है।

26 मार्च को सीएम हरीश रावत के हुए स्टिंग ऑपरेशन की पूछताछ आगे बढ़ रही है। सीबीआई प्राथमिक जांच दर्ज करने के बाद स्टिंग करने वालों सहित कुछ अन्य से भी पूछताछ कर चुकी है।

जांच एजेंसी ने अब तक मुख्यमंत्री को तीन बार पूछताछ के लिए बुलाया, लेकिन वह एक बार ही पूछताछ के लिए पहुंचे। पहली पूछताछ में सीबीआई ने पांच घंटे तक सीएम से सवाल जवाब किए थे। इसके बाद सीएम ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर सीबीआई जांच निरस्त करने की मांग की थी।

हाईकोर्ट ने सीएम को पूछताछ में शामिल होने के लिए कहा, लेकिन जांच एजेंसी को आदेश दिया कि वह हरीश रावत को गिरफ्तारी नहीं करेगी। हाईकोर्ट के निर्णय से मुख्यमंत्री और कांग्रेस राहत में है।

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई सीएम से पूछताछ के बाद खरीद फरोख्त का आरोप लगाने वाले विधायक से भी पूछताछ करेगी। सीबीआई ने मदन बिष्ट के आठ मई को हुए स्टिंग के अलावा खरीद फरोख्त के बयानों वाले वीडियो फुटेज भी खंगाले हैं।