जिनेवा।… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच देशों की अपनी यात्रा के तीसरे पड़ाव के तहत सोमवार को स्विट्जरलैंड पहुंच गए। यहां वह द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय सहयोग को गहरा करने के लिए देश के राष्ट्रपति जोहान श्नीडर अम्मान के साथ वार्ता करेंगे।

पीएम मोदी ने शनिवार को अफगानिस्तान की यात्रा की थी। वह कतर की दो दिनों की यात्रा के बाद यहां पहुंचे। कतर की यात्रा के दौरान उन्होंने वहां के नेतृत्व से कई मामलों पर बातचीत की।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, नमस्कार जिनेवा, स्विट्जरलैंड के सुंदर शहर में रविवार रात आगमन के साथ ही प्रधानमंत्री की यात्रा के तीसरे पड़ाव की शुरुआत हो गई। पीएम मोदी ने पांच देशों की यात्रा से पहले स्विट्जरलैंड को यूरोप में भारत का अहम साझीदार बताया था।

काले धन पर होगी बात!
उन्होंने कहा था, मैं हमारे द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय सहयोग को और गहरा करने के लिए राष्ट्रपति जोहान श्नीडर अम्मान के साथ वार्ता करूंगा। पीएम मोदी ने कहा था, मैं जिनेवा में प्रमुख उद्योगपतियों से मुलाकात करूंगा। हमारा एजेंडा आर्थिक एवं निवेश संबंधों को विस्तार देना होगा।

उन्होंने कहा, मैं सीईआरएन में काम कर रहे भारतीय वैज्ञानिकों से मिलूंगा। भारत को मानवता की सेवा के लिए विज्ञान के नए पहलुओं की तलाश में उनके योगदान पर गर्व है। प्रधानमंत्री भारतीयों द्वारा स्विस बैंकों में जमा किए गए काले धन का मुद्दा भी उठा सकते हैं।

पीएम मोदी 48 सदस्यीय परमाणु आपूर्ति समूह में भारत की सदस्यता के लिए स्विट्जरलैंड के सहयोग की अपील कर सकते हैं, क्योंकि वह इस समूह का अहम सदस्य है। पीएम मोदी यहां से अमेरिका और फिर मेक्सिको जाएंगे। इसके बाद वह भारत लौटेंगे।