अपोलो अस्पताल में बड़े किडनी रैकेट का पर्दाफाश

दिल्ली पुलिस ने राजधानी में चल रहे बड़े किडनी रैकेट का पर्दाफाश करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से दो अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों के सहयोगी हैं।

पुलिस के अनुसार, अपोलो अस्पताल में पिछले छह-आठ महीने से किडनी प्रत्यारोपण का रैकेट चल रहा था। पुलिस सूत्रों के अनुसार, इस दौरान पांच लोगों का किडनी प्रत्यारोपण कराया गया।

पुलिस इस मामले में अपोलो अस्पताल के दो डॉक्टरों से भी पूछताछ की तैयारी कर रही है। इनकी देखरेख में ही पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता था। हालांकि दोनों डॉक्टरों के छुट्टी पर होने पर पुलिस अभी तक उनसे पूछताछ नहीं कर पाई है।

सामान भी बरामद: सरिता विहार पुलिस ने पांचों आरोपियों को पहाड़गंज और आसपास के इलाकों से गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान असीम सिकंदर, सत्या प्रकाश, देवाशीष, आदित्य सिंह और शैलेश सक्सेना के रूप में हुई है।

पुलिस ने इनके पास से लैपटॉप, मोबाइल फोन, प्रिंटर, स्कैनर और कई फर्जी पहचान पत्र व कागजात बरामद किए हैं।  पुलिस इन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ की तैयारी कर रही है।

अपोलो अस्पताल प्रशासन ने अपने बयान में कहा कि वह पुलिस को जांच में पूरी मदद कर रहे हैं। मामले की गंभीरता से जांच चल रही है। प्रशासन ने कहा कि अगर आरोप साबित होते हैं तो आरोपी डॉक्टरों और अन्य के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।