चाबहार के बाद मोदी सरकार की निगाह बांग्लादेश के पाइरा बंदरगाह पर

ईरान में रणनीतिक महत्व के चाबहार बंदरगाह को हासिल करने के बाद सरकार की निगाह अब बांग्लादेश के पाइरा बंदरगाह के विकास पर है। इसके लिए उसकी बांग्लादेश से बातचीत चल रही है।

जहाजरानी मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की जेएनपीटी तथा कांडला पोर्ट फॉर ओवरसीज पोर्ट्स का संयुक्त उद्यम इंडिया पोर्टस ग्लोबल पाइरा-पायरा बंदरगाह के लिए रूचि पत्र देने की इच्छुक है।

केंद्रीय जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने यहां संवाददाताओं से कहा, हमारे विदेश मंत्रालय तथा बांग्लादेश के बीच बात चल रही है। ढाका भी हमें चाहता है। हमने वहां अध्ययन के लिए दल भेजा है। हालांकि, उन्होंने बंदरगाह के गंतव्य के बारे में नहीं बताया।

फरवरी में मीडिया की एक खबर में कहा गया था कि चीन पाइरा बंदरगाह के निर्माण का इच्छुक है। बांग्लादेश ने इस सौदे को रद्द कर दिया और वह इसे भारत को देने का इच्छुक है। यह भारत-बांग्लादेश के रिश्तों में मजबूती का संकेतक है।