बागेश्वर- कपकोट में उत्तरभारत हाइड्रोपावर कंपनी की टनल में रिसाव, चार गावों को खतरा

दो सप्ताह पहले बागेश्वर के कपकोट में सरयू नदी पर बनी उत्तर भारत हाइड्रोपावर कंपनी की 12.6 मेगावाट की बिजली परियोजना की टनल में पानी छोड़ा गया। तभी कुछ जगहों पर हल्का रिसाव शुरू हो गया था। तब माना जा रहा था कि रिसाव धीरे-धीरे बंद हो जाएगा। इससे डोडिना ग्राम पंचायत के लिए खतरा पैदा हो गया है। कुछ तोकों में लोगों के घरों में परियोजना का पानी घुस रहा है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत अधिकारियों से की है लेकिन अब तक मरम्मत का काम शुरू नहीं हुआ है।

आज 14 दिन बीतने के बावजूद रिसवा बढ़ता जा रहा है। डोडिना ग्राम पंचायत के मजुवाखार, खारबगड़, बांसे तथा रीठाबगड़ गांव के ऊपर से गुजर रही टनल में कई जगह पानी फूटने लगा। इससे करीब 1800 की आबादी के सामने खतरा पैदा हो गया है। रिसा हुआ पानी लोगों के घरों में घुस रहा है। एसडीएम केएस टोलिया ने बताया कि खारबगड़ में टनल में रिसाव की बात सामने आई है। कंपनी को सख्त निर्देश दिए गए हैं। दो-चार दिन में टनल का रिसाब बंद करा लिया जाएगा।

बिजली परियोजना का लक्ष्य करीब 12.6 मेगावाट है लेकिन 14 दिन बीतने के बावजूद उत्पादन लक्ष्य के अनुरूप आधा भी नहीं हो रहा है। परियोजना अफसरों के मुताबिक अब तक केवल मेगावाट बिजली उत्पादन हो रहा है।