राज्य सरकार ने राज्य आंदोलनकारियों को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने राज्यभर में चिन्हित  लगभग 11000 आंदोलनकारियों को 3100 रुपये पेंशन के तौर पर देने के आदेश कर दिए हैं।

राज्य सरकार ने पिछले दिनों हुई कैबिनेट बैठक में राज्य आंदोलनकारियों को पेंशन देने का निर्णय लिया था। बुधवार को प्रमुख सचिव उमाकांत पंवार ने पेंशन के आदेश जारी किए। हालांकि पंवार ने जो आदेश जारी किया हैं उसमें यह साफ नहीं है कि आंदोलनकारियों को कब से यह पेंशन दी जाएगी।

इस आदेश पर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं। यह आदेश जारी करने से पहले गृह विभाग ने वित्त की मंजूरी लेने तक की कोशिश नहीं की। दरअसल पेंशन के मद में गृह विभाग के पास रत्तीभर पैसा नहीं है। ऐसे में इस वित्तीय वर्ष में आंदोलनकारियों को पेंशन कैसे दी जाएगी यह बड़ा सवाल है। जिन आंदोलनकारियों को सरकार पहले से पेंशन दे रही थी उन्हें पेंशन देने में सरकार ने दस माह लगा दिए।