नई टिहरी।… उत्तराखंड में जैसे ही हरीश रावत की सरकार गई और राष्ट्रपति शासन लागू हुआ वैसे ही ताकतवर माननीयों (विधायक) के खिलाफ बकाएदारों ने कार्रवाई शुरू कर दी है। ऊर्जा निगम ने भी आखिरकार साहस जुटा ही लिया और राष्ट्रपति शासन लागू होने के 24 घंटे के भीतर बकायेदार दो माननीयों के घर के बिजली कनेक्शन काट दिए।

ये दोनों विधायक अब तक विपक्ष में बैठी बीजेपी के हैं, लेकिन इनमें से एक घनसाली से विधायक भीमलाल आर्य निवर्तमान मुख्यमंत्री हरीश रावत के साथ खड़े दिख रहे थे, जबकि दूसरा नाम धनोल्टी से बीजेपी विधायक महावीर रांगड़ का है।

भीमलाल आर्य ने तीन साल और महावीर रांगड़ ने पिछले दो साल से बिजली का बिल नहीं चुकाया था और निगम कार्रवाई के नाम पर इससे पहले सिर्फ नोटिस भेजकर खानापूर्ति करता रहा है। नियम के अनुसार ऊर्जा निगम बिल भुगतान की अंतिम तिथि के 15 दिन बाद कभी भी कनेक्शन काट सकता है। आम लोगों के खिलाफ ये कार्रवाई होती भी है, लेकिन माननीयों पर कौन हाथ डालेगा।

बड़े बकायेदारों से वसूली न करने को लेकर वैसे भी ऊर्जा निगम अक्सर चर्चा में रहता है, लेकिन ‘सियासी रुतबे’ के आगे भी वह नतमस्तक ही नजर आता है। विधायक भीमलाल आर्य का चमियाला में मकान है। ऊर्जा निगम के अनुसार साल 2013 से उन पर 84 हजार रुपये का बकाया है।

इस बीच निगम ने उन्हें नोटिस भेजकर कार्रवाई की खानापूर्ति भी की। इस पर विधायक ने 2013 में दस हजार रुपये जमा करा कर ‘जिम्मेदार नागरिक’ होने का कर्तव्य भी निभाया। इसी तरह विधायक महावीर रांगड़ पर भी ऊर्जा निगम का दो साल से 77839 रुपये बकाया है। इसमें से 53 हजार रुपये उनके थत्यूड़ स्थित मकान और 24839 रुपये ललोटना गांव के घर का है। इस अवधि में उन्हें भी तीन बार नोटिस भेजा गया।

ऊर्जा निगम के एग्जक्यूटिव इंजीनियर शक्ति प्रसाद ने बताया कि पहले दोनों विधायकों ने बिल जमा कराने का आश्वासन दिया था। इस वजह से उन्हें समय दिया गया, लेकिन अब समय सीमा समाप्त होने पर कनेक्शन काटे गए हैं। उन्होंने कहा कि बिल जमा कराने पर ही कनेक्शन जोड़े जाएंगे।

भीमलाल आर्य का कहना है, ‘मैं बकाया जमा करा दूंगा, लेकिन ऊर्जा निगम ने ग्रामीणों को जो गलत बिल दिए हैं, उसका हिसाब कौन देगा। बिजली बिलों में गड़बड़ी को सुधारने के प्रयास किए जाने चाहिए।’

महावीर रांगड़ ने कहा, ‘मुझे इस संबंध में जानकारी नहीं है। थत्यूड़ बाजार स्थित मेरे घर के बिजली कनेक्शन में कुछ विवाद चल रहा है। इस बारे में जानकारी के बाद ही कुछ बता पाऊंगा।’