FSL चंडीगढ़ की जांच में सही पाया गया हरीश रावत का ‘स्टिंग ऑपरेशन’ : रिपोर्ट

उत्तराखंड में कांग्रेस की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पहले बगावत ने कांग्रेस के लिए मुसीबत खड़ी की, फिर राष्ट्रपति शासन से हरीश रावत और कांग्रेस को झटका लगा और अब हरीश रावत के ‘स्टिंग ऑपरेशन’ वाली सीडी भी जांच में सही पाई गई है। सीडी में हरीश रावत पर खरीद-फरोख्त के आरोप लगे हैं।

गृह मंत्रालय ने सीडी को जांच के लिए चंडीगढ़ की फॉरेंसिक लैब में भेजा था। बताया जा रहा है कि सीडी को एफएसएल जांच में सही पाया गया है। सीडी सामने आने के बाद हरीश रावत ने इसके फर्जी होने की बात कही थी।

सीडी की जांच पर सवालिया निशान लगाते हुए हरीश रावत ने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि इतने कम समय में सीडी की जांच हो गई। उन्होंने कहा कि मैं सीडी की जांच एक बार फिर से करवाने की मांग करुंगा।

बता दें है कि बागी विधायक हरक सिंह रावत ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री हरीश रावत पर गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने एक ‘स्टिंग ऑपरेशन’ की सीडी दिखाई और दावा किया कि इसमें हरीश रावत विधायकों को लालच देते दिख रहे हैं’

हरक सिंह ने आरोप लगाया था कि हम 9 विधायकों के अलावा बीजेपी के विधायकों को भी खरीदने की कोशिश की जा रही है।