कप्तान विराट कोहली -फाइल फोटो

भारत को सेमीफाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले विराट कोहली ने रविवार को मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आईसीसी वर्ल्ड टी20 में नाबाद 82 रन की पारी को अपनी सर्वश्रेष्ठ तीन पारियों में एक करार दिया। कोहली ने ऐसे समय में 51 गेंदों पर नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से यह पारी खेलकर भारत को लक्ष्य तक पहुंचाया, जब उसने शुरू में तीन विकेट गंवा दिए थे। कोहली को इस शानदार पारी के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ भी चुना गया।

इस सदाबहार बल्लेबाज ने मैच के बाद कहा, ‘युवी के साथ साझेदारी अच्छी रही और बाद में धोनी ने मुझे शांत बनाए रखा। हम हमेशा तेजी से रन चुराते हैं। हमारे बीच अच्छी समझ है। इसलिए आप जिम जाते हो, फिटनेस पर ध्यान देते हो। उसका आज फायदा मिला। यह मेरी चोटी की तीन पारियों में से एक थी। अभी शायद सर्वश्रेष्ठ क्योंकि मैं थोड़ा भावुक हूं।’

कोहली ने इसके साथ ही दर्शकों का भी आभार व्यक्त किया जो बड़ी संख्या में पीसीए स्टेडियम में पहुंचे थे। उन्होंने कहा, ‘मैं दर्शकों का आभार व्यक्त करना चाहूंगा। यह अविश्वसनीय था। उनके समर्थन से मुश्किल दौर से आगे बढ़ने में मदद मिली। आपको हर मैच में चुनौती चाहिए इससे एक क्रिकेटर के रूप में आप में सुधार होता है। मैं जीत से बहुत खुश हूं और समझ में नहीं आ रहा है क्या कहूं।’

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी कोहली की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘यह पहला अवसर नहीं था, जबकि मैंने उसकी पारी का लुत्फ उठाया। वह पिछले कुछ सालों से बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहा है और अपने खेल में लगातार सुधार कर रहा है। वह टीम के लिए रन बनाने के लिए बहुत भूखा है।’

धोनी ने इसके साथ ही कहा कि अन्य बल्लेबाजों को भी अब कोहली के भरोसे पर ही नहीं रहना चाहिए और उन्हें भी अपना योगदान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘अन्य बल्लेबाजों को अब अपनी भूमिका निभानी होगी। उन्हें कोहली पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। अन्य भी योगदान दे रहे हैं, लेकिन उन्हें आगे बढ़कर चुनौती का सामना करना होगा।’

धोनी ने कहा कि लक्ष्य मुश्किल था। उन्होंने कहा, ‘यह मुश्किल स्कोर था। उन्होंने पहले छह ओवरों में 60 रन बनाए। बीच के ओवर मुश्किल थे। विशेषकर स्पिनरों की बैक लेंथ की गेंद को हिट करना आसान नहीं था। हमें लगा कि यदि हम बीच के ओवरों में अच्छे रन बनाते हैं तो सफल रहेंगे।’

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने भी माना कि कोहली ने उनसे मैच छीना। उन्होंने कहा, ‘यह वास्तव में दबाव में खेली गई बेहतरीन पारी थी। उसने बेहतरीन शॉट लगाए और वह लंबे समय से ऐसा कर रहा है। विराट ने अविश्वसनीय पारी खेली। मेरा मानना है कि 160 रन अच्छा स्कोर था, लेकिन एक अविश्वसनीय पारी से भारत लक्ष्य हासिल करने में सफल रहा।’