माकपा महासचिव सीताराम येचुरी-फाइल फोटो

माकपा ने उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की आलोचना करते हुए इस घटनाक्रम को लोकतंत्र का ‘गला घोंटना’ बताते हुए कहा कि यह कदम संविधान की आत्मा के विरूद्ध है।

ट्वीट करते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह राज्यों की सत्ता पाने के लिए ‘राजनीतिक भ्रष्टाचार’ में लिप्त है। उन्होंने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम ने लोकतंत्र के प्रति सत्तारूढ़ दल की प्रतिबद्धता को सबके सामने ला दिया है।

येचुरी ने कहा, ‘उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना, मोदी सरकार द्वारा लोकतंत्र का गला घोंटना है, यह हमारे संविधान की आत्मा के खिलाफ है।’ उन्होंने इस फैसले के समय पर सवाल उठाते हुए कहा, यह निर्णय ऐसे समय में लिया गया है जब शक्ति परीक्षण में ‘महज कुछ घंटे’ बचे थे।