नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली ने किसी खास देश से किसी अन्य देश के साथ नेपाल के संबंधों की तुलना करने से साफ इनकार कर दिया। वह चीन की अपनी पहली यात्रा के बाद रविवार को ही स्वदेश लौटे हैं।

ओली की यात्रा के दौरान दोनों देशों ने एक ऐतिहासिक व्यापार एवं पारगमन संधि सहित 10 समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

ओली ने चीन से रविवार को त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचने पर कहा, ‘हमारी नीति स्पष्ट है कि हम मजबूत होंगे और सभी मित्र राष्ट्रों के साथ मौजूदा संबंधों को समानता एवं पारस्परिक हितों के आधार पर विस्तृत करेंगे। हम पड़ोसियों के साथ रिश्तों की तुलना नहीं करेंगे।’

उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि उनकी चीन यात्रा के दौरान कई अहम समझौते हुए।