नई दिल्ली।… बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में हवाई अड्डे और मेट्रो स्टेशन पर मंगलवार को हुए घातक आतंकी हमलों के बाद वहां फंसे चालक दल के 28 सदस्यों समेत 242 यात्रियों को लेकर जेट एयरवेज का विमान शुक्रवार तड़के दिल्ली पहुंच गया।

एम्स्टर्डम से रवाना हुई ‘रिकवरी’ उड़ान संख्या 9डब्ल्यू1229 शुक्रवार सुबह दिल्ली पहुंची। अंतिम क्षणों में तकनीकी समस्या के चलते मुंबई की उड़ान को रद्द कर उसे दिल्ली के साथ जोड़ दिया गया था। एयरलाइन द्वारा पहले ब्रसेल्स में फंसे सभी यात्रियों को सड़क के रास्ते एम्स्टर्डम लाया गया था।

जेट एयरवेज के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘जेट एयरवेज की उड़ान संख्या 9डब्ल्यू1229 में 214 यात्री और चालक दल के 28 सदस्य सवार थे। इनमें से 69 यात्री मुंबई के थे। विमान शुक्रवार सुबह 5.10 बजे दिल्ली पहुंचा।’

ब्रसेल्स हवाई अड्डे पर अपने साथ पेश आई परेशानियों को बयां करते हुए एक महिला यात्री ने बताया, ‘मैं टोरंटो से आ रही थी। हवाई अड्डे पर आगमन स्थल पर पहुंचने के 15 मिनट के भीतर उन्होंने हमें जल्द से जल्द स्थान खाली करने को कहा। हमें कोई अंदाजा नहीं था कि वहां क्या हुआ है।’ उन्होंने कहा कि वहां सैकड़ों यात्री अपना सामान लेकर भाग रहे थे। ‘जिससे हमें पता चला कि वहां तीन विस्फोट हुए हैं।’

एक अन्य यात्री ने बताया, ‘जैसे ही हमारा विमान उतरा वैसे ही हवाई अड्डे के प्रस्थान क्षेत्र में विस्फोट हुआ। वे हम सभी को बाहर ले गए और कुछ देर तक हम वहीं फंसे रहे।’ ब्रसेल्स में फंसे सभी यात्रियों को सड़क के रास्ते एम्स्टर्डम लाने के बाद जेट एयरवेज ने गुरुवार को टोरंटो और दिल्ली के लिए दो विमानों का संचालन किया था।

एयरलाइन ने पहले एम्स्टर्डम से तीन उड़ानों के संचालन की घोषणा की थी, लेकिन अंतिम क्षणों में तकनीकी समस्या के चलते मुंबई की उड़ान को रद्द कर उसे दिल्ली के साथ जोड़ दिया गया। जेट एयरवेज के एक अधिकारी ने बताया कि यात्रियों को दिल्ली लाने वाला विमान बाद में 69 यात्रियों के साथ मुंबई रवाना हो गया।

एक अन्य यात्री ने बताया, ‘जब विस्फोट हुआ तब मेरा विमान उतर ही रहा था, इसलिए हम हवाई अड्डे के अंदर पहुंच ही नहीं पाए।’ उन्होंने बताया, ‘हमें एक अन्य स्थान पर ले जाया गया। जहां हमारा अच्छी तरह ध्यान रखा गया।’ मंगलवार को ब्रसेल्स में हुए आत्मघाती हमले में 31 लोगों की मौत हो गई थी और 300 लोग घायल हो गए थे।