उत्तराखंड संकट के बारे में केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने सोमवार को कांग्रेस के उस आरोप का खंडन किया, जिसमें कहा गया था कि केंद्र सरकार राज्य सरकारों को पलटने की कोशिश कर रही है। उन्होंने विपक्ष को ‘दलबदल की जननी’ बताया।

बीजेपी के विधायकों के साथ कांग्रेस के नौ विद्रोही विधायकों ने उत्तराखंड में सरकार के खिलाफ वोट किया था। इससे सरकार की साख पर संकट आ खड़ा हुआ है। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री हरीश रावत को बहुमत साबित करने के लिए कहा है जबकि बीजेपी भी सरकार बनाने का दावा कर रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा था कि सरकार राज्य सरकारों को पलटने का प्रयास कर रही है और उनकी पार्टी ‘लोकतंत्र के साथ इस छेड़छाड़’ के खिलाफ लड़ेगी।

इस पर प्रतिक्रिया करते हुए नायडू ने कहा, ‘देश में कांग्रेस दलबदल की जननी है। जब कोई किसी और पार्टी से उनकी पार्टी में जाता है तो वह उसे स्नेह बताते हैं और जब कोई उनकी पार्टी से किसी और दल में जाता है तो वह उसे दलबदल बताते हैं।’

उन्होंने दावा किया कि जब कांग्रेस केंद्र में थी तो उसने 90 बार राष्ट्रपति शासन लगाया। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल ‘हमें उपदेश न दे।’