ब्रसेल्स हवाई अड्डे और सिटी मेट्रो मंगलवार को बम विस्फोट के धमाकों से दहल गए। इन धमाकों में कम से कम 28 लोग मारे गए। विस्फोटों के बाद बेल्जियम में भीषण आतंकी खतरे की चेतावनी जारी कर दी गई है और साथ ही पड़ोसी देश नीदरलैंड्स ने भी राष्ट्रीय हवाई अड्डों पर सुरक्षा को कड़ी कर दी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इन हमलों को निंदनीय करार देते हुए कहा कि इस बारे में आ रही खबरें ‘परेशान करने’ वाली हैं।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, स्थानीय समयानुसार सुबह आठ बजे जेवेन्तम एयरपोर्ट के मुख्य कक्ष में दो विस्फोट हुए और इसके बाद तीसरा विस्फोट यूरोपीय संघ की मुख्य इमारत के पास मालबीक मेट्रो स्टेशन पर हुआ। ऑफिस समय होने के कारण मेट्रो स्टेशन पर भीड़ थी और साथ ही हवाई अड्डे पर भी चेक-इन करने के लिए हजारों यात्री मौजूद थे।

बेल्जियम मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि हवाई अड्डे पर हुए विस्फोटों में कम से कम 28 लोग मारे गए और करीब 30 अन्य घायल हुए हैं।

brussels

एएफपी के एक रिपोर्टर ने बताया कि मेट्रो स्टेशन के बाहर आपात सेवा विभाग के कर्मचारी खून से सने कम से कम 15 लोगों का इलाज करते देखे गए।

brussels3
नवंबर में 130 लोगों की जान लेने वाले पेरिस आतंकवादी हमलों के मुख्य संदिग्ध सालेह अब्देस्सलाम को शुक्रवार को नाटकीय तरीके से गिरफ्तार किए जाने के बाद ये विस्फोट हुए हैं। टेलीविजन पर दिखाई जा रही फुटेज में घबराहट के माहौल में यात्रियों को भागते हुए दिखाया गया है। टर्मिनल की इमारत से धुंआ उठ रहा है, जहां खिड़कियों के शीशे टूटे हुए हैं।

brussels1

सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीरों में टर्मिनल हाल के फर्श पर फ्लोर टाइलें टूटी हालत में पड़ी हैं। हवाई नौवहन सुरक्षा को देखने वाले यूरोपीय संगठन यूरोकंट्रोल ने अपनी वेबसाइट पर पुष्टि की कि हवाई अड्डे को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है।

brussels4

पीएम मोदी ने बताया हमले को निंदनीय
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रूसेल्स हवाई अड्डे पर हमले को निंदनीय करार देते हुए कहा कि इस बारे में आ रही खबरें ‘परेशान करने’ वाली हैं।

मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘ब्रसेल्स से आ ही खबरें परेशान करने वाली हैं। यह हमला निंदनीय है। मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। हमले में घायल हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 30 मार्च को भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने बेल्जियम जाने का कार्यक्रम है।