कांग्रेस हाईकमान ने शनिवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की प्रवक्ता रीता बहुगुणा जोशी से कहा है कि वह बागी तेवर दिखा रहे अपने बड़े भाई विजय बहुगुणा को विपक्षी बीजेपी के साथ हाथ न मिलाने और गरिमा के साथ घर लौटने के लिए मनाएं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष रीता उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा की बहन हैं और उन्हें कांग्रेस हाईकमान ने यह काम सौंपा है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न छापे जाने की शर्त पर कहा कि कांग्रेस हाईकमान को उम्मीद है कि वह अपने भाई को अपनी सरकार के खिलाफ टकराव का रास्ता न अपनाने के लिए मनाने में सफल हो जाएंगी।

इससे पहले दिन में, मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सदन में बहुगुणा द्वारा किए गए व्यवहार पर कड़ी आपत्ति जताई थी और कहा कि कांग्रेसी परिवार से गहरा संबंध रखने वाले बहुगुणा से उन्हें इस आचरण की कतई उम्मीद नहीं थी।

रावत ने कहा, ‘वह हेमवती नंदन बहुगुणा के पुत्र हैं, जिन्होंने हमेशा धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के लिए संघर्ष किया और सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ खड़े रहे। ऐसे में बहुगुणा का व्यवहार बहुत हैरान करने वाला है। उनके पिता की आत्मा भी इससे विचलित हो रही होगी।’