दो साल से पाइप लाइन सूखने के कारण पानी की आपूर्ति बंद है, लेकिन जल संस्थान उपभोक्ताओं को लगातार पानी का बिल भेज रहा है। परेशान लोगों ने अब संस्थान की इस कार्यप्रणाली का विरोध किया है। बात हो रही है अस्थायी राजधानी देहरादून में आर्केडिया के ठाकुरपुर क्षेत्र स्थित रुद्र एनक्लेव की। यहां के करीब सौ लोग इस समस्या से परेशान हैं।

यह क्षेत्र कुछ ऊंचाई पर स्थित है। लिहाजा यहां पानी चढ़ पाना मुश्किल होता है। दो साल पहले तक तो किसी तरह पानी पहुंच जाता था, लेकिन इसके बाद लोग पानी की एक-एक बूंद को तरस गए।

आखिरकार लोग अब टैंकरों के भरोसे पानी की जरूरतें पूरी करने को मजबूर हैं। क्षेत्रवासी अनूप रस्तोगी का कहना है कि पानी के बिना काफी परेशानी होती है।

कई बार जल संस्थान के अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं, फिर भी हमें पानी नहीं मिल पा रहा है। देवेश्वरी देवी ने बताया कि सुबह से ही पानी की तलाश शुरू हो जाती है।

टैंकरों को पैसे देकर हम परेशान हो गए हैं। पानी नहीं आने पर भी जल संस्थान का बिल पहुंच जाता है, जब पानी आता नहीं है तो, हम यह बिल क्यों भरें?