बीजेपी और कांग्रेस दोनों की आलोचना करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता आशुतोष ने कहा कि दोनों राष्ट्रीय दल उत्तराखंड में लोकतंत्र का ‘वस्त्रहरण’ कर रही हैं। आशुतोष ने कहा, ‘जनता दोनों को सबक सिखाएगी और जमानत जब्त हो जाएगी।’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड के राजनीतिक घटनाक्रम पर शनिवार को बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए उसे ‘भ्रष्ट, देशद्रोही और सत्ता की भूखी’ पार्टी करार दिया और आरोप लगाया कि वह ‘खरीद-फरोख्त’ कर रही है।

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘धड़ल्ले से खरीद-फरोख्त की जा रही है। पहले अरुणाचल और अब उत्तराखंड में। बीजेपी सबसे भ्रष्ट, देशद्रोही और सत्ता की भूखी पार्टी साबित हो रही है।’

भविष्य निधि (पीएफ) और आभूषण कारोबारियों पर टैक्स प्रस्तावों के मुद्दे पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘पहले पीएफ पर टैक्स लगाया, फिर आभूषण कारोबारियों पर कर लगा दिया। लगता है जेटली जी ने मोदी जी को शर्मिंदा करने की ठान ली है।’

केजरीवाल उत्तराखंड में कायम राजनीतिक अस्थिरता की तुलना पिछले दिनों अरुणाचल प्रदेश में हुए घटनाक्रमों से करते नजर आए। अरुणाचल में जनवरी में कुछ दिनों के लिए राष्ट्रपति शासन लगाया गया था।

‘आप’ नेता ने अरुणाचल में राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले को संविधान की ‘हत्या’ करार दिया था। गौरतलब है कि उत्तराखंड में चार साल पुरानी कांग्रेस सरकार खतरे में है। पार्टी के नौ विधायक बगावत पर उतर आए हैं और बीजेपी में शामिल होने की तैयारी में हैं। बीजेपी ने उत्तराखंड में सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया है।

70 सदस्यीय उत्तराखंड में इन नौ बागियों सहित कांग्रेस के पास 36 विधायक हैं। सत्ताधारी पार्टी को प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक फ्रंट (पीडीएफ) के छह सदस्यों का भी समर्थन प्राप्त है। बीजेपी के पास 28 विधायक हैं।