मुख्यमंत्री हरीश रावत राज्य के हालात पर बातचीत करने के लिए शनिवार शाम को राजभवन पहुंचे। रावत ने राज्यपाल से मिलने के लिए 7.30 बजे का समय लिया था। इस बीच हरीश रावत ने कहा कि राज्यपाल ने बहुमत साबित करने को कहा है तो हम बहुमत साबित करेंगे।

इससे पहले उत्तराखंड में मचे सियासी बवाल के बीच राज्यपाल केके पॉल ने मुख्यमंत्री हरीश रावत को चिट्ठी लिखी। राज्यपाल ने हरीश रावत से 28 मार्च से पहले विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है। राज्यपाल के इस कदम को हरीश रावत के लिए राहत के रूप में देखा जा रहा है।

उधर कांग्रेस के बागी विधायक हरक सिंह रावत का कहना है कि उनके पक्ष में 35 विधायक हैं, जिनमें 26 बीजेपी और 9 कांग्रेस के एमएलए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री हरीश रावत के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि इस्तीफा देकर ही दिल्ली आया हूं। हरक ने कहा, मुख्यमंत्री से बात करके कोई नतीजा नहीं निकला था।

इससे पहले हरीश रावत ने कहा था कि हरक रावत ने मीडिया में इस्तीफा दिया है और फिर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। बागी विधायक प्रणव चैंपियन ने दावा किया कि उन्हें एक कैबिनट मंत्री का फोन आया और वापस आने के लिए 2 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया है।

उत्तराखंड कैबिनेट की बैठक में कई फैसले लिए गए हैं। बीजेपी के एकमात्र बागी विधायक भीमलाल आर्य को मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अंबेडकर कार्यक्रम समिति में शामिल किया है। यही नहीं कैबिनेट ने महाधिवक्ता यूके उनियाल को हटाने का निर्णय भी लिया है। महाधिवक्ता यूके उनियाल बागी विधायक सुबोध उनियाल के भाई हैं। यूके उनियाल ने उन्हें हटाए जाने पर प्रतिक्रिया में कहा, ‘मेरा सरकार से रिश्ता क्लाइंट का रहा है।’

विधायक हरीश चंद्र दुर्गापाल का कहना है कि पीडीएफ पूरी तरह कांग्रेस के साथ है। इस बीच मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि रीता बहुगुणा जोशी जी को अपने भाई से एक सवाल करना चाहिए, ‘भईया ये आपने क्या किया?’ कांग्रेस विधायक और पर्यटन मंत्री दिनेश धनै ने कहा, ‘विजय बहुगुणा के परिवार के सभी परिजनों को कांग्रेस से निकाल देना चाहिए।’ वरिष्ठ मंत्री इंदिरा हृदयेश बोलीं, ‘विजय बहुगुणा के बीजेपी का साथ देने से ताज्जुब में हूं।’

बागी हरक सिंह रावत ने बयान दिया है कि उनकी ताकत लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा, जो होगा अच्छा ही होगा, हमारे लिए शुभ संकेत हैं। बता दें कि कांग्रेस के बागी सदस्यों की विधानसभा सदस्यता खतरे में पड़ गई है। विधानसभा अध्यक्ष गोविंद कुंजवाल ने एंटी डिफेक्शन के तहत बागियों को नोटिस भेजे हैं। कैबिनेट मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी का आरोप है कि हरक सिंह रावत ने सदन में उनके साथ मारपीट की है।

उत्तराखंड कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने प्रेसवार्ता में कहा, ‘हम बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं।’ कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि बीजेपी ने जो किया है उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। मुख्यमंत्री हरीश रावत के औद्योगिक सलाहकार रणजीत सिंह रावत ने देहरादून की यमुना कॉलोनी में विधायकों के साथ बैठक की।